Breaking News

300 kg था महिला का वजन, 214 किलो घटाकर खुद को किया फिट, हर कोई कह रहा- वाह

मुंबई से सटे वसई इलाके में रहने वाली 42 साल की अमिता राजणी का वजन एक समय 300 किलो तक पहुंच गया था. 

अमित त्रिपाठी | May 10, 2019, 00:02 AM IST

अमिता को ऑपरेशन के लिए जब पहली बार ले जाया गया तो उसके लिए एक खासतौर की एंबुलेंस की जरूरत पड़ी और उन्हे ऑपरेशन थिएटर तक पहुंचाने के लिए कुल 20 लोगों का सहारा लेना पड़ा. 

1/5

अमिता राजणी का वजन एक समय 300 किलो तक पहुंच गया था.

 obesity, Amita Rajani

मुंबई: कभी अपने बढ़े हुए वजन के कारण अमिता ने दस साल तक घर से बाहर कदम नहीं रखा और अब उनकी मां कहती हैं कि अमिता अब घर मे रहती ही नहीं हैं. मुंबई से सटे वसई इलाके में रहने वाली 42 साल की अमिता राजणी का वजन एक समय 300 किलो तक पहुंच गया था. हालात ये थे बिस्तर से हिलना मुश्किल था. लेकिन अमिता हमेशा से ऐसे नही थी. अमिता का जब जन्म हुआ तो सामान्य तौर पर सिर्फ 3 किलो की थी.

2/5

16 साल की उम्र में अमिता का वजन 126 किलो तक पहुंच गया था.

Amita Rajani, Shashank Shah

6 साल की उम्र के बाद उसका वजन बढ़ना शूरु हुआ और 16 साल की उम्र में अमिता का वजन 126 किलो तक पहुंच गया और उसके बाद भी वो लगातार बढ़ता ही गया. अमिता को ऑपरेशन के लिए जब पहली बार ले जाया गया तो उसके लिए एक खासतौर की एंबुलेंस की जरूरत पड़ी और उन्हे ऑपरेशन थिएटर तक पहुंचाने के लिए कुल 20 लोगों का सहारा लेना पड़ा. अमिता के वजन बढ़ने के साथ उनके परिवार के लोगों की उनके प्रति चिंता भी बढ़ती गई.

3/5

मोटापे के साथ अमिता को सांस की बीमारी समेत कई बीमारियां थी.

surgeon, obesity, Amita Rajani

उसी दैरान उनको डॉक्टर शशांक शाह के बारे में मालूम हुआ. शशांक का कहना है कि जब उन्हे इनका फोन आया तभी उन्हे लग गया था कि उन्हे ये काम करना ही है. अमिता का कहना है कि दिनों–दिन की उनकी समस्य़ा बढ़ती ही जा रही थी उनकी साफ-सफाई के लिए घर में तौलिए का बंड़ल आने लगे थे. मोटापे के साथ अमिता को सांस की बीमारी, डायबिटीज टाइप-2 जैसी कई और कई बीमारियां थी ऐसे में किसी भी ऑपरेशन के पहले इन सबको भी ठीक रखना काफी जरूरी था. 

 

4/5

साल 2015 मे अमिता का पहला ऑपरेशन किया गया.

surgeon, obesity

साल 2015 मे अमिता का पहला ऑपरेशन किया गया जिससे वजन कम होना शूरु हुआ और साल 2017 में फिर से दूसरा ऑपरेशन हुआ. इन दोनों ऑपरेशन के बाद कम हुए वजन के बाद अमिता से फिर से चलना शूरु किया. अमिता का कहना है कि उनका चलना ही उन्हे स्वप्न जैसा लगता है ऐसे जैसे कि उन्हे स्वर्ग मिल गया हो. ऑपरेशन के पहले उनकी जिंदगी नर्क की तरह से थी वो दिनभर बिस्तर पर पड़ी रहती. 

5/5

मोटापा कम होने से अमिता काफी खुश है.

surgeon

डॉक्टर शशांक शाह का कहना है कि पिछले 30 साल के कैरियर में उन्होने 40 हजार से ज्यादा ऑपरेशन किए होगे लेकिन इस ऑपरेशन के लिए जितना अमिता और उनके परिवार को लोगों ने विश्वास किया उसी कारण ये हो पाया. फिलहाल अमिता काफी खुश है कि फिर से चल फिर सकती है.