'गीत गाने दो मुझे तो, वेदना को रोकने को...' - महाकवि निराला

हिंदी के महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' की आज जयंती है. वसंत पंचमी के दिन ही उन्होंने जन्म लिया था. निराला हिंदी साहित्य के छायावाद के प्रमुख माने जाते हैं.

Jan 22, 2018, 13:51 PM IST

हिंदी के महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' की आज जयंती है. वसंत पंचमी के दिन ही उन्होंने जन्म लिया था. निराला हिंदी साहित्य के छायावाद के प्रमुख माने जाते हैं.

1/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems

हिंदी के महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' की आज जयंती है. वसंत पंचमी के दिन ही उन्होंने जन्म लिया था. निराला हिंदी साहित्य के छायावाद के प्रमुख माने जाते हैं. निराला ने कई कविताएं, उपन्यास, निबंध संग्रह आदि की रचनाएं की. कविता संग्रह में परिमल, अनामिका, गीतिका, आदिमा, बेला, नए पत्ते, अर्चना, आराधना आदि प्रमुख हैं. वहीं, उपन्यासों में अप्सरा, अल्का, प्रभावती, निरूपमा, चमेली हैं. निराला की कविताएं की ख्याति विशेषरूप से उनकी रचित कविताओं के कारण ही है. आगे पढ़ें, निराली की रचित पांच प्रसिद्ध कविताएं.

2/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems

3/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems

4/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems

5/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems

6/6

Suryakant Tripathi Nirala birthday on vasant panchami read his famous poems