जानिए, टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ T20 सीरीज में क्या खोया, क्या पाया

 IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में विराट कोहली का ध्यान जीत से ज्यादा अगले साल होने वाले टी20 विश्व चैंपियनशिप पर था. 

विकास शर्मा | Sep 24, 2019, 11:59 AM IST

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप के बाद टीम इंडिया की निगाहें अगले साल होने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप (T20 World Cup) पर थी. इसकी तैयारी के लिए टीम ने वेस्टइंडीज दौरे में टी20 सीरीज में कई युवाओं को आजमाया. विराट ने यह सीरीज 3-0 से क्लीन स्वीप की. इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के भारत दौरे (India vs South Africa) की टी20 सीरीज में वही नजरिया दिखा. तीन टी20 मैचों की यह सीरीज 1-1 से बराबर रही. इस सीरीज में विराट कोहली (Virat kohli) ने बतौर कप्तान काफी कुछ पाया तो कुछ चिंताएं भी सामने आईं. 

1/10

शिखर धवन का फॉर्म

Shikhar Dhawan back in form

इस सीरीज में सबसे बड़ी उपलब्धि शिखर धवन की शानदार वापसी रही. धवन ने वेस्टइंडीज की टी20 सीरीज में 23, 3 और 1 रन बनाए थे. लेकिन इस सीरीज के दो मैचों में शानदार 40 और 36 रन की पारी खेली.  दोनों पारियों में वे पहले पॉवरप्ले के बाद ही आउट हुए और कई शानदार शॉट्स भी लगाए. धवन आईसीसी विश्व कप में चोटिल होकर बाहर हुए थे. वापसी के बाद उनका फॉर्म वापस आना टीम इंडिया के लिए अच्छी खबर है. (फोटो: IANS)

2/10

मिडिल आर्डर में श्रेयस अय्यर

Shreyas Iyer hopes

मोहाली में श्रेयस अय्यर 16 रन की नाबाद पारी खेली थी. लेकिन वे बेंगलुरू में केवल 5 रन पर स्टंप आउट हो गए. इसके बावजूद अय्यर ने वेस्टइंडीज और इस सीरीज में (बेंगलुरू की पारी छोड़कर) अच्छा टेम्परामेंट दिखया. इस बार टीम प्रबंधन का अय्यर पर विश्वास बढ़ता दिखाई दे रहा है. (फोटो: ANI)

3/10

विराट को फॉर्म

Virat in form

मोहाली में विराट कोहली ने 72 रन की नाबाद पारी खेलकर दिखा दिया के वे टीम के लिए अहम बने रहेंगे. बेंगलुरू में वे नाकाम जरूर रहे, लेकिन मैच के बाद उन्होंने पूरी सकारात्मता और विनम्रता से स्वीकार किया कि हार के बावजूद टीम को कई चीजों को जांचने का मौका मिला. विराट एक परिपक्व कप्तान बनते जा रहे हैं. (फोटो: IANS)

4/10

रवींद्र जडेजा अब भी उम्मीद

Ravindra Jadeja still pormising

जडेजा ने एक बार फिर अपनी उपयोगिता साबित की. बल्ले से उन्होंने बेंगलुरू में कीमती 18 रन बनाए. और दो ओवर में केवल 8 रन दिए. वहीं मोहाली में 4 ओवर में 31 रन देकर एक विकेट लिया. (फोटो: IANS)

5/10

दीपक चाहर की उम्मीदें कायम

Deepak Chahar keeps hopes alive

इस दौरे पर दीपक चाहर ने खुद को उपयोगी गेंदबाज साबित किया. दीपक ने मोहाली में 4 ओवर में 22 रन देकर 2 विकेट लिए. बेंगलुरू में उन्हें सफलता तो नहीं मिली लेकिन फिर भी तीन ओवर में केवल 15 रन ही दिए. (फोटो: IANS)

6/10

पंत की समस्या कायम

Pant problem continues

इस सीरीज में पंत ने सबसे ज्यादा निराश किया. पंत ने बेंगलुरू ने 19 रन की पारी खेली और एक बार फिर बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में आउट हुए. मोहाली में भी पंत 4 रन बनाकर आउट हुए. ऐसे में अब पंत पर सवाल उठने लगे हैं. (फोटो: ANI)

7/10

नंबर चार का सवाल

Quesiton of no. 4

सीरीज में नंबर चार बल्लेबाज की समस्या खुल कर सामने आई. मोहाली में श्रेयस अय्यर को ज्यादा मौका नहीं मिला और उन्होंने अपना विकेट भी बचाया, लेकिन बेंगलुरू में पंत नंबर चार पर बैटिंग करने आ गए. बाद में विराट ने बताया कि ऐसा कन्फ्यूजन के कारण हुआ. इससे टीम में नंबर चार को लेकर टीम की असहजता खुल कर सामने आई. (फोटो: IANS)

8/10

नवदीप सैनी से उम्मीदें

Hopes form Navdeep Saini

नवदीप सैनी इस सीरीज में महंगे साबित हुए. उन्होंने मोहाली में 34 रन देकर एक विकेट लिया. जबकि बेंगलुरू में वे दो ओवर में 25 रन लुटा बैठे. वेस्टइंडीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले सैनी को अब अपनी गेंदबाजी पर और ज्यादा काम करना होगा. (फोटो: IANS)

9/10

क्रुणाल पांड्या ने किया चिंतित

Krunal disappoints

क्रुणाल पांड्या ने बैट और बॉल दोनों से निराश किया. क्रुणाल बेंगलुरू में केवल 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गए और 3.5 ओवर में 40 रन लुटा दिए. मोहाली में उन्होंने एक ओवर में 7 रन दिए. (फोटो: IANS)

10/10

रोहित का फ्लॉप शो

Rohit forms worries

रोहित शर्मा ने बेंगलुरू में केवल 9 ही रन बनाए. जबकि मोहाली में वे 12 रन ही बना सके थे. रोहित ने वेस्टइंडीज में बेहतर प्रदर्शन किया था लेकिन यहां वे चूक गए. (फोटो: IANS)