149 KM/h की रफ्तार से भी ज्यादा तेज गेंदें फेंक चुके हैं ये 6 भारतीय

एक समय था जब टीम इंडिया को तेज गेंदबाजों के लिए नहीं जाना जाता था. लेकिन अब हालात बदल चुके हैं. कुछ युवा गेंदबाज तो 19 की उम्र से पहले ही 149 की रफ्तार से गेंदें फेंकने लगे हैं. अंडर-19 वर्ल्डकप में पहले ही मैच में टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाजों ने अपनी रफ्तार से सभी को चौंका दिया. उनमें से एक हैं कमलेश नागरकोटी. उन्होंने मैच में 149 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी. लेकिन टीम इंडिया में ऐसे गेंदबाज भी हुए हैं, जिन्होंने इससे भी तेज गेंदें फेंकी है.

Jan 16, 2018, 07:51 AM IST

एक समय था जब टीम इंडिया को तेज गेंदबाजों के लिए नहीं जाना जाता था. लेकिन अब हालात बदल चुके हैं. कुछ युवा गेंदबाज तो 19 की उम्र से पहले ही 149 की रफ्तार से गेंदें फेंकने लगे हैं. अंडर-19 वर्ल्डकप में पहले ही मैच में टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाजों ने अपनी रफ्तार से सभी को चौंका दिया. उनमें से एक हैं कमलेश नागरकोटी. उन्होंने मैच में 149 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी. लेकिन टीम इंडिया में ऐसे गेंदबाज भी हुए हैं, जिन्होंने इससे भी तेज गेंदें फेंकी है.

1/8

 kamlesh nagarkoti

राजस्थान में बाडमेर के रहने वाले तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने अंडर-19 विश्वकप के पहले ही मैच में 149-150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी. कमलेश ने कई गेंदें 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर की फेंकी. मैच में नागरकोटी ने सबसे तेज गेंद 149 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से फेंकी. उन्होंने 3 विकेट लिए.

2/8

RP Singh

आरपी सिंह : इन्होंने 149 की रफ्तार से गेंद तो नहीं फेंकी, लेकिन ये भारत के सबसे तेज गेंदबाजों में से एक माने जाते हैं. इन्होंने अपनी सबसे तेज गेंद 147 की रफ्तार से फेंकी थी. ये गेंद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में फेंकी. आरपी सिंह ने 14 टेस्ट और 58 वनडे मैच खेले. इसमें उन्होंने 124 विकेट लिए.

3/8

sreesant

एस श्रीसंत : टीम इंडिया के इस तेज गेंदबाज पर अभी प्रतिबंध लगा हुआ है. आईपीएल में फिक्सिंग के आरोप में ये बल्लेबाज बैन झेल रहा है, लेकिन गेंद की रफ्तार से इसका कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने एक बार 149 की रफ्तार से गेंद फेंकी. 27 टेस्ट मैचों में उन्होंने 87 विकेट हासिल किए.

4/8

ashish nehra

आशीष नेहरा : पिछले साल यानी 2017 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले आशीष नेहरा ने डरबन में जिंबाब्वे के खिलाफ एक वनडे में 149.7 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी. 2003 के वर्ल्डकप में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया.

5/8

umesh yadav

उमेश यादव : इस समय ये गेंदबाज सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में दिखाई देता है. अफ्रीकी दौरे में टीम इंडिया के साथ हैं. 2012 में उमेश यादव ने ब्रिसबेन के मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ 152.5 किमी की रफ्तार से गेंद फेंकी थी.

6/8

 varun aaron

वरुण आरोन : इनकी गिनती देश के उन तेज गेंदबाजों में होती है, जो करीब करीब अपनी हर बॉल 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर रख सकते हैं. घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट में उनकी इसी योग्यता के कारण उन्हें जल्दी ही टीम इंडिया में मौका मिला. 2014 में श्रीलंका के खिलाफ एक मैच में उन्होंने 152.5 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से फेंकी.

7/8

ishant Sharma

ईशांत शर्मा : 2008 में ऑस्ट्रेलिया के मुश्किल दौरे से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले ईशांत शर्मा टीम इंडिया के सदस्य बने हुए हैं. 10 साल से क्रिकेट खेल रहे इस गेंदबाज की गेंदें दक्षिण अफ्रीका में भी विरोधियों को परेशान कर रही हैं. 2008 में अपनी पहली ही सीरीज में उन्होंने ब्रिसबेन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 152.6 किमी की रफ्तार से गेंद फेंकी.

8/8

javagal srinath

जवागल श्रीनाथ : कपिल देव के बाद टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी की जिम्मेदारी श्रीनाथ ने ही उठाई. 1996-97 में वह उफान पर थे, लेकिन कंधे की चोट ने उनके करियर को लंबा नहीं चलने दिया. लेकिन 1999 के वर्ल्डकप में जहां शोएब अख्तर ने दुनिया में सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड बनाया तो श्रीनाथ उस टूर्नामेंट में दूसरे सबसे तेज गति से गेंद फेंकने वाले गेंदबाज बने. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में 154.5 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी. श्रीनाथ ने 67 टेस्ट में 236 विकेट अपने नाम किए.