टेस्ट सीरीज से पहले तीन दिन के अभ्यास मैच में इन खिलाड़ियों पर होंगी निगाहें

भारत और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट सीरीज से पहले तीन दिन का अभ्यास मैच कई खिलाड़ियों के लिए एक अच्छा मौका हो सकता है.

विकास शर्मा | Aug 17, 2019, 14:27 PM IST

नई दिल्ली: विश्व कप के बाद टीम इंडिया के वेस्टइंडीज दौरे (India vs West Indies) की टी20 और वनडे सीरीज के बाद सबकी नजर टेस्ट सीरीज पर है. 22 अगस्त से शुरू होने वाली इस टेस्ट सीरीज से पहले शनिवार को भारत और वेस्टइंडीज ए के बीच तीन दिवसीय अभ्यास मैच शुरू हो रहा है. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत दोनों टीमों की यह पहली टेस्ट सीरीज है. इस लिहाज से यह तीन दिवसीय मैच दोनों ही टीमों के लिए अहम हो गया है. इस मैच में दोनों टीमों के कुछ खास खिलाड़ियों पर निगाहें होंगी.

1/10

अजिंक्य रहाणे- भारत के उपकप्तान

Ajinkya Rahane India's wise captain

इस मैच में अजिंक्य रहाणे वेस्टइंडीज के माहौल में खुद के ढालने के मौके के तौर पर देख रहे होंगे. रहाणे का विदेशी पिचों पर शानदार रिकॉर्ड है. वे उन गिने चुने खिलाड़ियों में से हैं जिनका घरेलू पिच (होम) से ज्यादा अच्छा रिकॉर्ड विदेशी (अवे) पिचों पर है. उनकी तकनीक बहुत ही शानदार है यहां तक उन्होंने अपनी तकनीक से आईपीएल तक में प्रभावित किया है.  उनकी अहमित का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वे टीम के उपकप्तान हैं. (फोटो: PTI)

 

2/10

जसप्रीत बुमराह गेंदबाजी को धारे देने की तैयारी

Jasprit Bumrah Ready to sharpen his bowling

जसप्रीत बुमराह वैसे तो शुरू में टी20 में डेथ स्पेशलिस्ट बॉलर के तौर पर आए थे, आज वे वनडे में नंबर एक गेंदबाज हैं, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया की गेंदबाजी की रीढ़ बन चुके हैं. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया और उससे पहले पिछले साल इंग्लैंड में उन्होंने खुद को टीम इंडिया का प्रमुख बॉलर बना लिया है. आलम यह है कि कप्तान विराट उनके बिना टीम की कल्पना भी नहीं कर सकते. यानि कहा जाए कि टीम में उनका कोई विकल्प नहीं है तो गलत नहीं होगा. वे टी20 और वनडे टीम में नहीं थे इसलिए वे कैसे और कितनी जल्दी विंडीज माहौल में ढलते हैं यह देखना दिलचस्प होगा. (फोटो: PTI)

3/10

रोहित शर्मा- तैयारी की जरूरत

Rohit Sharma needs practice

रोहित शर्मा वैसे तो वनडे और टी20 टीम के उपकप्तान है, लेकिन उनकी कुछ तकनीकी खामियां उन्हें टेस्ट क्रिकेट से दूर करती रही हैं. रोहित क्रीज पर जमने में काफी समय लेते हैं. वनडे और टी20 में भी वे इसकी भरापाई कर लेते हैं, लेकिन टेस्ट में वे काफी कमजोर हो जाते हैं और उन्हें शुरुआत में अपना विकेट बचाने में दिक्कत होती रही है. इसी वजह से वे टेस्ट टीम से अंदर बाहर होते रहे हैं. इस मैच को वे कैसे भुनाते हैं इससे उनका टेस्ट टीम में खेलने या न खेलने के फैसले पर असर हो सकता है. (फोटो: PTI)

4/10

ऋषभ पंत- गलतियों से बचने की जरूरत

Rishabh Pant needs to avoid mistakes

ऋषभ पंत वैसे तो विकेटकीपर हैं, लेकिन उन्हें टीम प्रबंधन की तरफ ज्यादा मौके मिल रहे हैं. टीम प्रबंधन उन्हें भविष्य के लिए ग्रूम करना चाहता है. हाल ही में उनकी कई कमजोरियां उजागर हुई हैं, लेकिन वे इंग्लैंड में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर हैं. यह अभ्यास मैच उन्हें वह अहम आधार दे सकता है जिसकी वे तलाश में हैं. (फोटो: PTI)

5/10

चेतेश्वर पुजारा- अभ्यास का जूनून

Cheteshwar Pujara Passion for practice

पुजारा टीम इंडिया की बल्लेबाजी की रीढ़ हैं वे निर्विवाद रूप से टेस्ट टीम इंडिया के सदस्य है और वनडे और टी20 फॉर्मेट से दूर रहने के बाद भी उनका स्थान टीम में तय ही रहता है खास कर विदेशी दौरों में उनका शानदार रिकॉर्ड उनके चयन पर कभी सवाल नहीं उठा सकता. काफी समय बाद वे टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले हैं जिससे उनके लिये यह अभ्यास मैच बहुत खास हो जाएगा. वे इस मैच में लंबी पारी खेलने के मूड से जरूर उतरेंगे. (फोटो: PTI)

 

6/10

केएल राहुल- साबित करने को बहुत कुछ

KL Rahul Still needs to prove

केएल राहुल अभी तक खुद को टीम के लिए विश्वस्नीय नहीं बना पाए हैं. उनके रहते ही टीम इंडिया में नंबर चार की बहस अभी तक खुली हुई है. उनकी प्रतिभा पर शायद ही किसी को संदेह हो, लेकिन नियमितता की तलाश में राहुल इस मैच में एक मोमेंटम बनाना चाहेंगे. (फोटो: PTI)

7/10

उमेश यादव- वापसी को बेताब

Umesh Yadav egar to return

उमेश यादव टीम इंडिया में प्रतियोगिता के चलते बाहर रहे हैं. वे एक बढ़िया बॉलर रहे हैं और वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल की टेस्ट सीरीज में उन्होंने घरेलू मैदानों पर शानदार गेंदबाजी की थी. अब वे भी काफी समय बाद टेस्ट सीरीज में खेल सकते हैं तो  इस मैच के जरिए वे खुद की गेंदों को विंडीज माहौल में ढालने में देर नहीं लगाना चाहेंगे. (फोटो: PTI)

8/10

आर अश्विन वापसी के इंतजार में

R Ashwin awaiting his return

आर अश्विन पिछले साल आखिरी बार एडिलेड में टेस्ट खेले थे. उस ऐतिहासिक मैच में उन्होंने छह विकेट लेकर टीम इंडिया की जीत में योगादन दिया था. एक समय वे टीम के स्थायी सदस्य लगते थे. लेकिन चहल और कुलदीप ने उन्हें कड़ी टक्कर दी है. वे भी मौके के इंतजार में हैं कि खुद को साबित कर सकें. वेस्टइंडीज में स्पिन गेंदबाजों की भूमिका हमेशा ही खास होती है. अश्विन कितने सफल होते हैं यह इस अभ्यास में पता चल सकता है. (फोटो: IANS)

9/10

डैरेन ब्रावो -जीता भरोसा

Darren bravi wins faith

डैरेन ब्रावो ने इस साल फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया था.  उन्होंने भारत के खिलाफ अपने सबसे ज्यादा टेस्ट खेले हैं और उनमें उनके नाम दो सेंचुरी और तीन हाफ सेंचुरी भी हैं. टीम ने उन्हें इस मैच के लिए चुना है, वे इससे पहले न तो वनडे, टी20 टीम में भारत के खिलाफ खेल सके थे और न ही उन्हें इंडिया ए के वेस्टइंडीज दौरे में कोई मौक मिला था. वे भी रहाणे की तरह इस मौके का फायदा उठाना चाहेंगे.

10/10

जॉन कैंपबेल टीम के भविष्य

John Campbell a promising cricketer

जॉन कैंपलेल ने इंडिया ए के खिलाफ अनाधिकृत वनडे सीरीज में 5, 4 और 21 रन बनाए थे. उन्होंने अभी तक तीन टेस्ट मैच ही खेले हैं वह भी इसी साल इंग्लैंड के खिलाफ जिसमें उन्होंने अपनी प्रतिभा का परिचय तो दिया था लेकिन वे इन मैचों की छह पारियों से तीन बार चालीस से ज्यादा रन बनाए. इंग्लैंड की पेस बॉलिंग और घरेलू तेज पिचों पर जिस तरह उन्होंने सामना किया था उसे प्रबंधन काफी प्रभावित था.