close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेरिका की नई पॉलिसी से दो लाख भारतीय छात्र होंगे परेशान, तीन हजार की वापसी भी तय

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 19, 2018, 12:07 PM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/5

अमेरिका की नई पॉलिसी से परेशान होंगे भारतीय छात्र

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि अमेरिकी कॉलेजों में अब भारतीय छात्रों को पढ़ाई करने में दिक्कत आ सकती है. खबर के मुताबिक हाल ही में अमेरिकी प्रशासन के यूएस सिटीजनशिप एंड इमीग्रेशन सर्विस (यूएससीआईएस) विभाग ने स्टूटेंड स्टेटस से संबंधी नियम और कड़े कर दिए हैं. जिस कारण वहां पढ़ रहे करीब दो लाख भारतीय छात्रों को दिक्कत हो सकती है. खबर में आगे बताया गया है कि नए प्रावधानों के मुताबिक किसी छात्र का 'स्टूडेंट स्टेटस' किसी भी वजह से हटता है तो अमेरिका में उनका रहना गैरकानूनी माना जाएगा. और उसके अवैध प्रवास के दिनों की गिनती उसी समय से शुरू हो जाएगी. खबर में जानकारी दी गई है कि भास्कर की पड़ताल में पता चला है कि वहां तीन हजार भारतीय छात्र ओवर स्टे हैं. यानी इनकी वापसी करीब-करीब तय है.

2/5

दुबई से दिल्ली पहुंचते ही हुई गिरफ्तारी, अब लाया जाएगा सूरत

Interesting News for NRI readers from Surat

सूरत: दैनिक भास्कर के सूरत संस्करण के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि सूरत में करीब 1800 करोड़ रुपए के बिटकॉइन घोटाले में चार मुख्य आरोपियों में से सूत्रधार दिव्येश दर्जी को शनिवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया है. खबर के मुताबिक सात महीने पहले सूरत से फरारी के बाद उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था. खबर में जानकारी दी गई है कि दिव्येश जैसे ही दुबई से दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरा, इमीग्रेशन विभाग ने सीआईडी क्राइम को जानकारी दी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया. खबर में आगे बताया गया है कि आरोपी को अब सूरत लाया जाएगा. खबर में आगे बताया गया है कि बाकी तीन मुख्य आरोपियों में सतीष कुंभाणी विदेश में है, जबकि दो अन्य सुरेश गोरसिया और धवल मावाणी का अब तक सुराग नहीं मिल सका है.

3/5

बदला लेने के लिए औरैया में साधुओं की हत्या

Interesting News for NRI readers from Auraiya

औरैया: दैनिक जागरण के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि उत्तर प्रदेश के औरैया स्थित ग्राम कुदरकोट के भयानकनाथ मंदिर में दो साधुओं की हत्या और एक को मरणासन्न करने वाले गोकश ही थे. खबर में जानकारी दी गई है कि इस दोहरे हत्याकांड में शामिल पांच आरोपितों-सलमान, नदीम, शहबाज, मजनू उर्फ नाजिम और गब्बर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है और हत्यारोपितों ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है. खबर के मुताबिक आरोपितों ने बताया कि साधु गोकशी में बाधक बन रहे थे, इसलिए मौत के घाट उतार दिया. खबर में आगे बताया गया है कि हत्यारोपियों से दो बाइक, तीन तमंचे, कारतूस, धारदार हथियार और मंदिर के दान पात्र से लूटे गए 1680 रुपये भी बरामद हुए हैं. खबर में एसपी नागेश्वर सिंह के हवाले से बताया गया है कि इस हत्याकांड के पर्दाफाश के लिए कानपुर की क्राइम ब्रांच व औरैया की स्वाट टीम समेत सात टीमें लगी थीं.

4/5

तीन साल की संजना ने किया कमाल

Interesting News for NRI readers from Chennai

चेन्नई: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि चेन्नई की तीन साल की संजना ने हाल ही में अपनी तीरंदाजी के दम पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए एक अनोखा और अविश्वसनीय कारनामा कर दिखाया है. खबर के मुताबिक संजना ने साढ़े तीन घंटे में आठ मीटर दूर लगाए गए लक्ष्य पर कुल 1,111 तीर चलाकर सबको चौंका दिया. खबर में संजना के कोच शिहन हुसैनी के हवाले से बताया गया है कि जब संजना को उसके माता-पिता उनके पास लेकर आए तो उन्हें अचानक यह एहसास हुआ कि इस बच्ची में जरूर कुछ खास है. खबर में आगे बताया गया है कि एलकेजी में पढ़ने वाली पी. संजना ने इस कारनामे के बाद कहा कि मुझे इतनी तीरंदाजी के बाद कोई दर्द नहीं हो रहा. मै थकी नहीं हूं. मेरा सपना है कि मैं ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतूं.

5/5

सिम के लिए होगा चेहरे का मिलान

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: दैनिक जागरण के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआइ) ने टेलीकॉम कंपनियों के लिए पहचान के सत्यापन में चेहरा मिलाने (फेस रिकॉग्निशन) की व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से लागू करने का एलान किया गया है. खबर के मुताबिक इसकी शुरुआत सितंबर से होगी. खबर में दावा किया गया है कि ऐसा नहीं होने पर कंपनियों को जुर्माना चुकाना पड़ सकता है. खबर में जानकारी दी गई है कि पहले इस व्यवस्था को एक जुलाई से लागू किया जाना था लेकिन बाद में तारीख को बढ़ाकर पहली अगस्त कर दिया गया था. खबर में आगे बताया गया है कि कंपनियों की तैयारी पूरी नहीं होने के कारण इसे फिर टालना पड़ा था. खबर में यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे के हवाले से बताया है कि चेहरे के मिलान की यह व्यवस्था वहीं लागू होगी, जहां सिम लेने के लिए आधार का प्रयोग होगा. आधार के बिना अन्य पहचान पत्र से सिम लेने पर यह लागू नहीं होगा.