उज्जैन: सावन के आखिरी सोमवार पर महाकालेश्वर मंदिर में हुई भव्य भस्म आरती

सावन के आखिरी सोमवार के दिन बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकाल मन्दिर में भस्म आरती के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होने के लिए उज्जैन के महाकाल मंदिर पंहुचे. 

बाबा के दर्शन के लिए श्रद्धालु देर रात 1 बजे ही मंदिर की लाइन में खड़े हुए नजर आए. बड़ी संख्या में श्रद्धालु भस्म आरती में शामिल होने के लिए उज्जैन के महाकाल मंदिर पंहुचे थे. सुबह 2.30 बजे मंदिर में भस्म आरती शुरू हुई जिसमें दूध, दही, घी, शहद, फुल, इत्र आदि से भगवान को स्नान कराया गया. मान्यता है की सावन में सोमवार को शिव के दर्शन से जो मांगो वो फल मिलता है. 

1/4

फूलों से किया गया बाबा का श्रृंगार

Baba's makeup done with flowers

बाबा महाकाल का फूलों से श्रृंगार करने के बाद बाबा की आरती शुरू हुई. ढोल-नगाड़ों और मंदिर की घंटियों के बीच झांज-मंजीरों के साथ बाबा महाकाल की आरती हुई, जिसमें बड़ी संख्या में भक्त शामिल हुए. 

2/4

सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं बाबा भोलेनाथ

Baba Bholenath fulfills all wishes

मान्यता है कि सावन के सोमवार का व्रत रखने वाले श्रद्धालु आज के दिन महाकाल मंदिर में पूजन-अभिषेक करते हैं तो भोले उनकी सभी मुरादें पूरी करते हैं. आज शाम 4 बजे महाकाल मंदिर से बाबा पालकी में सवार होकर अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलेंगे. 

3/4

मंत्री जी ने भी किए बाबा के दर्शन

The minister also saw Baba

मध्य प्रदेश शासन के मंत्री जयवर्धन सिंह भी बाबा की भस्म आरती के दर्शन के लिए उज्जैन पहुंचे थे. महाकाल बाबा का पंचामृत अभिषेक पूजन किया गया. श्रद्धालु महाकाल की झलक पाने को आतुर दिखाई दिए. भस्म आरती के दौरान महाकाल का भांग से अद्भुत श्रंगार किया गया. 

4/4

शहर भ्रमण पर निकलेगी बाबा की सवारी

Baba's ride will go on a city tour

सावन में हर कोई अपनी मुराद लेकर बाबा के पास आया था मान्यता है की सावन सोमवार को वृत रखने वाले श्रद्धालु आज के दिन महाकाल मंदिर में पूजन अभिषेक करते है तो उनकी सभी मुरादे भगवन शिव पूरी करते है. आज शाम 4 बजे महाकाल की सवारी भी शहर के भ्रमण पर निकलेगी. जिसमें चन्द्र मोलेश्वर के रूप में भगवन शिव श्राधालुओ को दर्शन देंगे.