close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कामकाजी महिलाओं ने कैनवास पर उतारा अपना हुनर, पेंटिंग्स देख फिदा हुए लोग

गुरुग्राम में लगाई गई पेंटिंग्स की इस प्रदर्शनी को देख कर कोई नहीं कह सकता कि ये पेंटिग्स किसी प्रोफेशनल पेंटर द्वारा नहीं बनाई गईं बल्कि इन पेंटिंग्स को गुरुग्राम और दिल्ली की उन 30 महिलाओं ने बनाया है जो वैसे तो पेशे से दूसरे क्षेत्रों में काम करती हैं लेकिन उनके अंदर एक पेंटर का हुनर भी छुपा हुआ था.

प्रमोद शर्मा | Oct 12, 2019, 20:14 PM IST

गुरुग्राम: कहते हैं हर इंसान के अंदर कोई ना कोई हुनर होता है और अगर वक़्त रहते इंसान उस हुनर को पहचान लेता है तो उसका वह हुनर ही उसकी पहचान बन जाता है. गुरुग्राम में लगाई गई पेंटिंग्स की इस प्रदर्शनी को देख कर कोई नहीं कह सकता कि ये पेंटिग्स किसी प्रोफेशनल पेंटर द्वारा नहीं बनाई गईं बल्कि इन पेंटिंग्स को गुरुग्राम और दिल्ली की उन 30 महिलाओं ने बनाया है जो वैसे तो पेशे से दूसरे क्षेत्रों में काम करती हैं लेकिन उनके अंदर एक पेंटर का हुनर भी छुपा हुआ था.

1/4

दीपक मकवाना ने पहचाना हुनर

paintings by working women

इन कामकाजी महिलाओं के उस हुनर को दीपक मकवाना ने पहचाना और इन सब महिलाओं को एक साथ लेकर आए. इन महिलाओं ने अपने काम के साथ-साथ समय निकाल कर अलग-अलग थीम पर पेंटिग की और अपने अंदर की कला को कैनवास पर खूबसूरती से उतारा. इन शानदार तस्वीरों को बनाने वाली महिलाओं में कोई डॉक्टर है तो कोई बिज़नेस वीमेन या कॉरपोरेट सेक्टर की सीनियर अधिकारी है. पेंटिंग्स बनाने वाली ज्यादातर महिलाएं चालीस साल से ऊपर की हैं.

2/4

प्रदर्शनी का मकसद महिलाओं के अंदर छिपे हुनर को बाहर लाना

paintings by working women

इस प्रदर्शनी की हिस्सा बनी ममता शर्मा ने ज़ी मीडिया को बताया कि इस प्रदर्शनी का मकसद महिलाओं के अंदर छिपे हुनर को बाहर लाना है जो किसी न किसी कारणवश अपने अंदर की कला को अपने अंदर ही दबाए रखती हैं. ममता ने आगे कहा कि अब हमारे ग्रुप के जरिए ज्यादा से ज्यादा महिलाएं हमारे साथ जुड़ रही हैं और उनकी कला भी लोगों के सामने आ रही है. इससे ना सिर्फ उनकी पहचान पेंटर के तौर पर बन रही है बल्कि इसके जरिए उनकी पेंटिंग भी ऊंचे दामों पर बिक रही है.

3/4

समय अभाव के चलते अंदर छुपी कला नहीं आ पाती सामने

paintings by working women

प्रदर्शनी का मकसद इन महिलाओं के अंदर छिपी कला को लोगों के सामने लाने के साथ-साथ उन महिलाओं को भी जागरूक करना है जिनके अंदर कोई ना कोई कला तो है लेकिन समय के अभाव के कारण वह लोगों के सामने नहीं आ पाती है.

4/4

दीप जलाकर हुई प्रदर्शनी की शुरुआत

paintings by working women

इस प्रदर्शनी की शुरुआत भारत सरकार में जॉइंट सेक्रेटरी प्रवीन कुमारी ने दीप जलाकर की. इस मौके पर काफी सारी वे महिलाएं भी मौजूद थीं जिनकी बनाई हुई पेंटिंग्स यहां लगाई हुई थी.