Advertisement
trendingPhotos2290302
photoDetails1hindi

बॉलीवुड एक्ट्रेस को भी मात देती हैं IAS स्मिता सभरवाल, AIR 4 के साथ बनीं देश की सबसे युवा आईएएस

IAS Smita Sabharwal: आज हम आपको भारत की आईएएस स्मिता सभरवाल के बारे में बताएंगे, जिन्होंने इस परीक्षा में ऑल इंडिया चौथी रैंक हासिल कर देश की सबसे युवा आईएएस बनने का मुकाम हासिल किया था.

1/5

भारत में लाखों उम्मीदवार ऐसे हैं, जिनका लक्ष्य देश की सबसे कठिन यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करना है. हालांकि, यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास करना कोई बच्चों का खेल नहीं है. इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए उम्मीदवारों को सालों साल मेहनत करनी होती है. अधिकतर उम्मीदवार इस परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग का सहारा भी लेते हैं, जहां वे लाखों रुपये फीस देते हैं. हालांकि, इसके बावजूद लाखों उम्मीदवार इस परीक्षा को पास नहीं कर पाते हैं.

ब्रेन विद ब्यूटी की बेहतरीन हैं मिसाल

2/5
ब्रेन विद ब्यूटी की बेहतरीन हैं मिसाल

दरअसल, हकीकत यह है कि भारत में हर साल करीब 10 लाख उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं, लेकिन उनमें से केवल एक हजार उम्मीदवार ही इस परीक्षा को पास कर आईएएस, आईपीएस समेत देश के ए ग्रेड ऑफिसर का पद हासिल कर पाते हैं. लेकिन आज हम आपको इस परीक्षा को टॉप रैंक हासिल करने वाली देश की सबसे युवा आईएएस ऑफिसर के बारे में बताएंगे, जो ब्रेन विद ब्यूटी की बेहतरीन मिसाल हैं.

12वीं में रह चुकी ऑल इंडिया टॉपर

3/5
12वीं में रह चुकी ऑल इंडिया टॉपर

दरअसल, हम बात कर रहे हैं आईएएस ऑफिसर स्मिता सभरवाल की, जो पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग की रहने वाली हैं. उनके पिता एक रिटायर्ड सेना कर्नल हैं. हालांकि, स्मिता ने हैदराबाद में रहकर अपनी पढ़ाई की और अपनी कक्षा 12वीं (ICSE बोर्ड) में ऑल इंडिया लेवल पर पहली रैंक हासिल की थी. इसके बाद उन्होंने सेंट फ्रांसिस डिग्री कॉलेज फॉर विमेन से B.com की पढ़ाई की है.

बनीं देश की सबसे युवा आईएएस

4/5
बनीं देश की सबसे युवा आईएएस

ग्रेजुएशन करने के तुरंत बाद स्मिता ने अपना पहला यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का अटेंप्ट दिया, लेकिन वह अपनी इस बार प्रीलिम्स परीक्षा भी क्लियर नहीं कर पाईं. इसके बाद साल 2000 में उन्होंने अपना दूसरा अटेंप्ट दिया, जिसमें उन्होंने ऑल इंडिया चौथी रैंक हैसिल की और आईएएस ऑफिसर बन गईं. बता दें कि उन्होंने यह उपलब्धि केवल 23 वर्ष की आयु में हासिल की थी और उस समय देश की सबसे कम उम्र की IAS ऑफिसर बन गई थीं.

रोजाना 6 घंटे करती थीं पढ़ाई

5/5
रोजाना 6 घंटे करती थीं पढ़ाई

स्मिता बताती हैं कि वह यूपीएससी के लिए रोजाना छह घंटे पढ़ाई करती थीं और प्रतिदिन एक घंटा खेल-कूद करके अपना रूटीन बैलेंस करती थीं. वह न्यूजपेपर और मैग्जीन के माध्यम से खुद को करंट अफेयर्स से अपडेट रखती थीं. उनका ऑप्शनल सब्जेक्ट एंथ्रोपोलॉजी और पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन था.

ट्रेन्डिंग फोटोज़