Advertisement
trendingPhotos2305941
photoDetails1hindi

पति-पत्नी दोनों सांसद, अखिलेश-डिंपल यादव का कमाल; सबसे पहले इस जोड़ी ने बनाया था रिकॉर्ड

Husband Wife Duo in Lok Sabha: 18वीं लोकसभा के पहले सत्र की आज (24 जून) से शुरुआत हो गई है और सत्र 3 जुलाई तक चलेगा. आज और कल दो दिन नए सांसदों को प्रोटेम स्पीकर शपथ दिलाएंगे. सांसदों के शपथ के साथ ही अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और डिंपल यादव (Dimple Yadav) ने कमाल कर दिया है. अब दोनों क साथ संसद में नजर आएंगे. दोनों अखिलेश और डिंपल यूपी के पहले ऐसे कपल बन गए हैं जो लोकसभा में एक साथ दिखेंगे.

 

पहले अलग-अलग पहुंचे थे संसद

1/5
पहले अलग-अलग पहुंचे थे संसद

हालांकि, यह पहला मौका नहीं है, जब अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और डिंपल यादव (Dimple Yadav) संसद में पहुंचे हो, लेकिन इससे पहले दोनों अलग-अलग संसद में पहुंचे थे. 17वीं लोकसभा में भी अखिलेश और डिंपल सांसद ने थे, लेकिन दोनों अलग-अलग समय पर लोकसभा पहुंचे थे.

17वीं लोकसभा में अलग-अलग सांसद

2/5
17वीं लोकसभा में अलग-अलग सांसद

2019 के लोकसभा चुनाव में दोनों चुनाव लडे़ थे, लेकिन अखिलेश यादव ने आजमगढ़ से जीत दर्ज की थी और डिंपल यादव को कन्नौज से हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि, मुलायम सिंह के निधन के बाद खाली हुई मैनपुरी सीट से डिंपल ने उपचुनाव में जीत दर्ज की, लेकिन उससे पहले अखिलेश यादव ने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बन गए थे.

पप्पू यादव के नाम है अनोखा रिकॉर्ड

3/5
पप्पू यादव के नाम है अनोखा रिकॉर्ड

संसद में एक साथ पहुंचने का रिकॉर्ड पप्पू यादव और उनकी पत्नी रंजीता रंजन के नाम है. 2004 और 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों ने जीत दर्ज की थी और एक साथ लोकसभा पहुंचे थे. हालांकि, दोनों अलग-अलग पार्टियों के सिंबल पर संसद पहुंचे थे.

 

पप्पू-रंजीता अलग-अलग सदन में सांसद

4/5
पप्पू-रंजीता अलग-अलग सदन में सांसद

पप्पू यादव और रंजीता रंजन अभी भी सांसद हैं, लेकिन दोनों अलग-अलग सदन के सदस्य हैं. पप्प यादव ने इस बार बिहार की पूर्णिया लोकसभा सीट से जीत दर्ज की है, जबकि रंजीता कांग्रेस पार्टी से राज्यसभा सांसद हैं. दोनों तीसरी बार एक साथ संसद पहुंचे हैं.

धर्मेंद्र-हेमा मालिनी भी पहुंचे थे साथ

5/5
धर्मेंद्र-हेमा मालिनी भी पहुंचे थे साथ

इसके अलावा हेमा मालिनी और धर्मेंद्र भी एक साथ ससंद पहुंच चुके थे. लेकिन, उन दोनों का मामला भी कुछ ऐसा था कि दोनों अलग-अलग सदन में सदस्य थे. धर्मेंद्र ने 2004 में राजस्थान के बीकानेर से बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी, जबकि हेमा मालिनी उस समय राज्यसभा सांसद थीं.

ट्रेन्डिंग फोटोज़