close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी नेता अनंत कुमार के निधन के बाद कई राजनेताओं ने जताया शोक

आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से आईसीयू में वेंटिलेटर पर थे. 

बीजेपी नेता अनंत कुमार के निधन के बाद कई राजनेताओं ने जताया शोक
केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार (फाईल फोटो)

नई दिल्ली: बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार(59) के निधन के बाद राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप-राष्ट्रपति एम. वेंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह, बिहार के सीएम नीतीश कुमार, कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, बीजेपी नेता पीयुष गोयल, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और उपेंद्र कुशवाहा ने भी शोक जताया है. वहीं कर्नाटक के राज्यपाल वाजूभाई वाला ने उनके घर जाकर उनके पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण किया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर उनके निधन पर दुख जताया है. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा है कि उन्हें अनंत कुमार की बंगलुरु में निधन के बारे में जानकार काफी दुख हुआ है. मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ है. भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे.


अमित शाह ने ट्ववीट पर अनंत कुमार के साथ गुजारे पलों को याद किया (फोटो साभार- ANI)

वहीं अमित शाह ने उनके निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि अनंत जी एक असाधारण प्रशासक थे जिन्होंने कई मंत्रालयों में सराहनीय काम किया था. उनके निधन से बीजेपी और भारतीय राजनीति में एक शून्यता आ गई है जिसे जल्द नहीं भरा जा सकता है. भगवान इस दुखद घड़ी में उनके परिवार और शुभचिंतको को इस दुख की घड़ी से लड़ने की ताकत दे. मेरी गहरी संवेदना उन सभी के साथ है.


गृह मंत्री राजनाथ सिंह

इसके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपने मंत्रीमंडल सहयोगी और पार्टी के नेता अनंत कुमार के निधन पर शोक प्रकट किया है. राजनाथ सिंह ने कहा है, ''वो काफी सुलझे हुए राजनेता रहे हैं और उनकी देश और देश के आम लोगों के प्रति सेवाकार्य काफी प्रशंसनीय रहा है. मेरी उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं है.''

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उनके निधन पर दुख जताते हुए कहा है कि उनका निधन से देश के अलावा उनकी  व्यक्तिगत क्षति भी है. वो एक अच्छे दोस्त के अलावा हमारे अभिभावक भी थें. हाल के कर्नाटक चुनाव के दौरान हमने साथ मिल कर काम भी किया था और उनका निधन वाकई हमें हतप्रत कर रहा है. हम उनके दाह-संस्कार में बंगलुरु में रहेंगे.


कर्नाटक के राज्यपाल वाजूभाई वाला ने उनके शव पर माल्यार्पण करते (फोटो साभार-ANI)

बीजेपी नेता पीयुष गोयल ने भी उनके निधन पर शोक जताया है. गोयल ने कहा है कि वो उनके निधन के समाचार से काफी दुखी है. अनंत कुमार देश के उन राजनीतिक नेताओं में रहे हैं जिन्हें विचारधारा के परे सारे राजनीतिक दल सम्मान देते थें.

इसके अवाला बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी उनके निधन पर शोक जताया है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि अनंत कुमार जी काफी मेहनती राजनेता और समाजसेवी रहे हैं. उन्होंने कर्नाटक की राजनीति में काफी अहम योगदान भी दिया है. उन्हें उनके इन कार्यों के लिए हमेशा याद किया जाएगा. उनके निधन से वो काफी दुखी हैं.

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी उनके निधन पर शोक प्रकट किया है. सीएम योगी ने कहा है कि उनके निधन से सरकार और पार्टी को काफी क्षति हुई है. उन्हें हमेशा एक अच्छे प्रशासक और एक लोकप्रिय नेता के तौर पर याद किया जाएगा.

वहीं कर्नाटक के सीएम और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी ने भी अनंत कुमार के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा, ''मैंने उनके साथ एक करीबी दोस्‍त को खो दिया. वह मूल्‍यों पर आधारित राजनीति करने वाले राजनेता थे, जिन्‍होंने सांसद और केंद्रीय मंत्री के रूप में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया.'' वहीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी शोक संवेदना व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि अनंत कुमार का दिल और दिमाग बेंगलुरू में बसता था.

वहीं रालोसपा नेता और केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने भी उनके निधन पर शोक प्रकट किया है. कुशवाहा ने कहा है कि अनंत कुमार का निधन एनडीए के लिए बड़ा नुकसान है. भगवान से प्रार्थना है कि उनके परिवार को इस दुख की घड़ी को सहने की शक्ति दे.

पीएम नरेंद्र मोदी ने बीजेपी नेता अनंत कुमार के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है. पीएम ने अपनी ट्वीट में कहा है कि वह एक विरले राजनैतिक नेता थें,जिन्होने कम उम्र में सार्वजनिक जीवन में आकर और बहुत परिश्रम एवं करुणा के साथ आम लोगों की सेवा की. उनके अच्‍छे कार्यों की वजह से उनको हमेशा याद किया जाएगा.'' पीएम मोदी ने यह भी कहा कि उन्‍होंने अनंत कुमार की पत्‍नी डॉ तेजस्विनी से बातचीत की है और शोक संतप्‍त परिवार को अपनी संवेदनाएं प्रकट की हैं. उन्‍होंने कहा, ''दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके पूरे परिवार, मित्रों और समर्थकों के साथ हैं. ओम शांति.''


उप-राष्ट्रपति एम. वेंकेया नायडू विदेश ने भी जताया शोक 

इसके अलावा देश के उप-राष्ट्रपति एम. वेंकेया नायडू ने भी उनके निधन पर भी शोक जताया है. उप-राष्ट्रपति नायडु ने कहा है, ''वो कुछ समय से बीमार चल रहे थें. लेकिन हमें उम्मीद थी कि वे जल्द स्वस्थ हो कर आम लोगों की सेवा में लौटेंगे. मेरी ह्रदय से उनकी पत्नी और बच्चों के प्रति संवेदना है.''

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी अनंत कुमार के निधन पर गहरा दुख व्‍य‍क्‍त किया है. उन्‍होंने कहा, ''सार्वजनिक जीवन और खासकर कर्नाटक के लोगों के लिए यह दुखद त्रासदी है. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, परिजनों और समर्थकों के साथ हैं.'' केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा,  ''वरिष्‍ठ सहयोगी अनंत कुमार के निधन से स्‍तब्‍ध और व्‍यथित हूं. वह वरिष्‍ठ सांसद थे जिन्‍होंने अलग-अलग दायित्‍वों में देश-सेवा की. लोगों के कल्‍याण के लिए उनका जुनून और निष्‍ठा अनुकरणीय था. मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों के साथ हैं.''


आम लोगों के दर्शन के लिए रखा गया शव (फोटो साभार-ANI)

आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से अनंत कुमार पिछले कई दिनों से आईसीयू में वेंटिलेटर पर थे. उनको फेफड़ों का कैंसर और इंफेक्‍शन था.अंतिम दर्शन के लिए अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को आज बेंगलुरू के नेशनल कॉलेज में रखा जाएगा.

अनंत कुमार कर्नाटक में बीजेपी के दिग्‍गज नेताओं में गिने जाते थे. कर्नाटक में बीजेपी को स्‍थापित करने में उनका अहम योगदान माना जाता है. वह बेंगलुरू दक्षिण से छह बार लोकसभा सांसद रहे. अनंत कुमार बीजेपी के सत्‍ता में आने के बाद मई, 2014 में केंद्रीय रसायन और उवर्रक मंत्री बने. जुलाई, 2016 में मोदी सरकार में उनको संसदीय कार्यमंत्री भी बनाया गया.

22 जुलाई, 1959 को बेंगुलरू में जन्‍मे अनंत कुमार ने हुबली के केएस आर्ट्स कॉलेज से बीए की डिग्री ली और उसके बाद कर्नाटक यूनिवर्सिटी से संबद्ध जेएसएस लॉ कॉलेज से वकालत की पढ़ाई की. उनके परिवार में पत्‍नी तेजस्विनी के अलावा दो बेटियां ऐश्‍वर्या और विजेता हैं. वह 1996 से बेंगलुरू दक्षिण से लोकसभा सांसद के रूप में चुने जाते रहे.