close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस ने फिर छेड़ा 2 बच्चों का प्लान, इमरजेंसी में जबरदस्ती कराई गई थी नसबंदी

कांग्रेस (Congress) के जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने कहा, 'देश की जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है. संसाधन सिकुड़ रहे हैं और जनसंख्या विस्फोट के साथ समस्याएं पैदा हो सकती हैं.' 

कांग्रेस ने फिर छेड़ा 2 बच्चों का प्लान, इमरजेंसी में जबरदस्ती कराई गई थी नसबंदी
कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने दो बच्चों की नीति को लागू करने की मांग की है.

नई दिल्ली: लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) ने जनसंख्या नियंत्रण की बात की तो कांग्रेस (Congress) इस मुद्दे को लपकने की कोशिश में जुट गई है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) की ओर से कोई कदम उठाए जाने से पहले ही कांग्रेस (Congress) इस बहस में कूद गई है. कांग्रेस (Congress) कार्यकारिणी के सदस्य जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने कहा है कि देश के संपूर्ण विकास के लिए यह जरूरी है कि जनसंख्या को नियंत्रित किया जाए. ध्यान रहे कि 1975-77 के बीच देश में लागू हुई इमरजेंसी के दौरान संजय गांधी ने लोगों की जबरदस्ती नसबंदी कराई थी. इस बात से लोगों में काफी रोष व्याप्त हो गया था. जनता पार्टी की सरकार बनने पर प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई ने नसबंदी कार्यक्रम पर रोक लगाकर देशवासियों से खुद से जनसंख्या नियंत्रण में भागीदार बनने की अपील की थी.

अब कांग्रेस (Congress) के जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने कहा, 'देश की जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है. संसाधन सिकुड़ रहे हैं और जनसंख्या विस्फोट के साथ समस्याएं पैदा हो सकती हैं.' जनसंख्या नियंत्रण खुद से होना चाहिए या उसे कानून के माध्यम से लागू कराना चाहिए? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि इसके लिए लोगों को खुद से आगे आना होगा. जितिन ने इस बात को मानने से इनकार किया कि जनसंख्या नियंत्रण का मुद्दा भाजपा द्वारा लाया गया मुद्दा है. उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस (Congress) के दिमाग की उपज है.

लाइव टीवी देखें-:

उन्होंने आगे कहा, 'यह राजनीति करने का नहीं, बल्कि देश का मुद्दा है. पार्टी ने 1998 में पंचमढ़ी सत्र में इसका उल्लेख किया है. यह वह समय था, जब सोनिया गांधी जी ने पार्टी अध्यक्ष पद की कमान संभाली थी.'

भाजपा सबसे अधिक इस बारे में बात करती है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकार के 2.5 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में इसे सख्ती के साथ लागू कराने की बात कही थी. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) ने इस मुद्दे को लाल किले की प्राचीर से उठाया और इसे जरूरी बताया था. जनसंख्या नियंत्रण भविष्य में वोट लेने में मदद कर सकता है, यह सोचकर भाजपा इस विषय पर चर्चा करवा रही है.

इनपुट: IANS