जनसंख्‍या नियंत्रण कानून पर CM नीतीश से डिप्टी CM रेणु देवी असहमत, कही ये बड़ी बात

Deputy CM Renu Devi On population control law: बिहार की उप मुख्यमंत्री सह आपदा प्रबंधन विभाग की मंत्री रेणु देवी ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कहा कि बिहार में बहुत ज्यादा जनसंख्या है और बढ़ ही रही है. 

जनसंख्‍या नियंत्रण कानून पर CM नीतीश से डिप्टी CM रेणु देवी असहमत, कही ये बड़ी बात
CM नीतीश से डिप्टी CM रेणु देवी असहमत (File Photo)

Patna: जनसंख्या नियंत्रण कानून पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के विचार से डिप्टी सीएम रेणु देवी (Deputy CM Renu Devi) ने असहमति प्रकट की है. रेणु देवी ने अपने एक अधिकारिक बयान में जनसंख्या से निपटने के लिए महिलाओं से ज्यादा पुरूषों को जागरूक करने की जरूरत है क्योंकि अधिक बच्चों के लिए महिलाओं पर घर के पुरूष ही दवाब बनाते हैं. इससे पहले सीएम ने कहा था कि महिलाओं को शिक्षित कर ही इस समस्या का निदान संभव है.

इसके साथ ही बिहार की उप मुख्यमंत्री सह आपदा प्रबंधन विभाग की मंत्री रेणु देवी ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कहा कि बिहार में बहुत ज्यादा जनसंख्या है और बढ़ ही रही है. जनसंख्या को घटाने के लिए शिक्षा पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है जो बिहार सरकार कर रही है जब बच्चे शिक्षित हो जाते हैं तो सोचते हैं कि हम कम बच्चा पैदा करें.

उन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए सबको साथ देना होगा जब तक पति साथ नहीं देगा तो पत्नी क्या कर सकती है जितनी महिलाएं जनसंख्या कम करने के लिए आगे बढ़ती हैं, उस तरह से पुरुष नहीं बढ़ते हैं. महिलाओं के लिए सारी व्यवस्था सरकार करती हैं लेकिन पुरुष महिलाओं को लेकर घर से नहीं निकलते हैं. रेणु देवी ने कहा कि जनसंख्या को कंट्रोल नहीं करेंगे तो कुपोषण का शिकार होंगे आज जनसंख्या विस्फोट हो रहा है.

डिप्टी CM रेणु देवी के मुताबिक, समाज में रहना है तो हर वर्ग के लोगों को सोचना पड़ेगा. तभी जनसंख्या नियंत्रण किया जा सकता है दूसरी समाज में जो कुरीति होती है लोगों को लगता है बेटा होगा तो अच्छा होगा लेकिन बेटा और बेटी दोनों बराबर होते हैं. इसलिए बेटा बेटी में कोई अंतर नहीं होना चाहिए सबसे अधिक जनसंख्या बढ़ाने में पुरुष हैं जो बेटे की चाह में रहते है और उनकी पत्नियां एक तो क्या 9 लड़कियों को जन्म दे देती है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.