गृहमंत्री अमित शाह ने विस्तार से समझाया, वह PM मोदी की जिंदगी को कैसे देखते हैं

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बिना किसी उपभोग के पीएम मोदी ने शासन किया और मूल्यों का पालन किया. एक बच्चा बिना किसी संसाधन के पलता बढ़ता है, आभाव रहता है, जब उनको मौका मिला समाज को कैसे आगे ले जाना तो भारत को विश्व पटल पर वह लाए. उसे देखते हुए पीएम मोदी के जीवन का मूल्यांकन किया जाना चाहिए. पीएम मोदी के व्यक्तित्व को समझने के लिए उनके बैकग्राउंड को समझना बेहद जरूरी है.

गृहमंत्री अमित शाह ने विस्तार से समझाया, वह PM मोदी की जिंदगी को कैसे देखते हैं
कर्म योद्धा ग्रंथ के विमोचन के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने पीएम मोदी की जिंदगी के बारे में बताया. फाइल तस्वीर साभार-PTI

नई दिल्ली: कर्म योद्धा ग्रंथ के विमोचन के कार्य्रकम में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) कई साल से देश के जनमानस के मन को परिवर्तित करने का काम कर रहे हैं, राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं. पीएम मोदी के जीवन को तीन हिस्से में देखा जा सकता है. पहला बिना किसी पद के हजारों कार्यकर्ताओं को तैयार करना. कार्यकर्ताओं के आधार पर चुनाव जीतना 1987 से लेकर 2001 तक और तीसरा तब से अब तक सीएम और पीएम रहते हुए अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हुए.

शाह ने कहा कि बिना किसी उपभोग के पीएम मोदी ने शासन किया और मूल्यों का पालन किया. एक बच्चा बिना किसी संसाधन के पलता बढ़ता है, आभाव रहता है, जब उनको मौका मिला समाज को कैसे आगे ले जाना तो भारत को विश्व पटल पर वह लाए. उसे देखते हुए पीएम मोदी के जीवन का मूल्यांकन किया जाना चाहिए. पीएम मोदी के व्यक्तित्व को समझने के लिए उनके बैकग्राउंड को समझना बेहद जरूरी है.

उन्होंने कहा कि मुझे पीएम मोदी के साथ लंबे समय से काम करने का मौका मिला, मैने बहुत नजदीक से उनके काम करने के तरीके को देखा, मोदीजी ने सबसे पहले गुजरात के संगठन को खड़ा किया, उसी तर्ज पर आज बीजेपी पूरे देश में खड़ी है. पीएम मोदी को गुजरात का सीएम बनाया गया था तो बहुत विकट समय था, सारी व्यवस्था अस्त व्यस्त थी, 2002 में दंगे हुए वहां से 2014 तक गुजरात सरकार चली, विकास का ऐसा मॉडल तैयार हुआ जो सबके सामने है.

पीएम मोदी की सरकार ने स्पष्ट कर दिया कि हम पर कोई हमला होगा तो उसको जवाब मिलेगा, उरी और पुलवामा इसका उदाहरण है. धारा 370, सीएए, ट्रिपल तलाक राम मंदिर पर स्पष्ट राय ये काम मोदी सरकार ने किया है, घोषणापत्र के मुताबिक कैसे काम होता है ये मोदी ने किया है. तुष्टिकरण, जातिवाद और परिवारवाद ये तीन नासूर थे जिसे मोदीजी ने समाप्त किया, मोदी सरकार ने फैसला लोगों के अच्छे के लिए लिया है ना कि लोगों को अच्छा लगा.

एक देश एक चुनाव की परिकल्पना रखी है पीएम ने और इस मामले में संवाद की प्रक्रिया जारी है. दुनिया को हिन्दी सुनने की आदत मोदीजी ने डाली है, मोदीजी से काम से देश को आगे बढ़ाया है.मोदीजी कुशल प्रशासक हैं, उपभोगशून्य स्वामी की परिकल्पना को चरितार्थ किया है.

ये भी देखें-:

लोकतंत्र के भीतर लोकसंवाद को स्थापित करने का काम किया मोदीजी की गुजरात सरकार ने 2014 तक उसके बाद जब केन्द्र सरकार का कार्यकाल संभाला तो 6 साल अब तक होने को हैं कुछ भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ, मोदी सरकार के पांच साल कार्यकाल ने 13 करोड़ लोगों के घर में चूल्हा जला, अगर बाहर के देश में होता तो इसकी चर्चा होती. आठ करोड़ घरों में शौचालय की व्यवस्था की, फिर से आए हैं तो ये तय किया है कि पाइप से पीने का पानी जनता तक पहुंचाएंगे 2024 तक, एग्रीकल्चर, इंडस्ट्रियल, रूरल और अर्बन सब तरीके का डेवलपमेंट किया है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.