close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी ने लोकसभा उपाध्यक्ष पद ऑफर किया तो भी स्वीकार नहीं करेगी जगन की पार्टी, ये है कारण

लोकसभा उपाध्यक्ष पद पर रूख को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि कोई सीधी या औपचारिक पेशकश नहीं आई है लेकिन बीजेपी कीे ओर से संकेत दिए गए हैं.

बीजेपी ने लोकसभा उपाध्यक्ष पद ऑफर किया तो भी स्वीकार नहीं करेगी जगन की पार्टी, ये है कारण

नई दिल्ली: वाईएसआर कांग्रेस के लोकसभा उपाध्यक्ष का पद स्वीकार करने की संभावना नहीं है, क्योंकि पार्टी आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग पूरी होने तक भाजपा नीत राजग सरकार के साथ खड़े हुए नहीं दिखना चाहती है. वाईएसआर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी सत्ता पक्ष और विपक्ष, दोनों से ही समान दूरी रखना चाहती है. वाईएसआर कांग्रेस 17वीं लोकसभा में चौथी सबसे बड़ी पार्टी है। उसके 22 सदस्य हैं.

नेता ने कहा, ‘आंध प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलने के लिए विपक्ष, खासकर, कांग्रेस भी जिम्मेदार है. इसने राज्य का विभाजन किया, लेकिन इसे विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया. लिहाजा हम उनसे भी समान दूरी रखेंगे.’ बहरहाल, उनकी पार्टी सत्तारूढ़ दल को देश हित वाले कुछ मुद्दों पर समर्थन दे सकती है.

लोकसभा उपाध्यक्ष पद पर रूख को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि कोई सीधी या औपचारिक पेशकश नहीं आई है लेकिन संकेत दिए गए हैं. पार्टी के नेता ने कहा, ‘पार्टी को यह पद नहीं चाहिए, क्योंकि इससे सत्तारूढ़ दल के साथ खड़ा हुआ देखा जाएगा. पार्टी केंद्र के आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने तक यह (केंद्र के साथ खड़े दिखना) नहीं चाहती है.’

उन्होंने कहा कि पार्टी ने अपने रूख से भाजपा नेतृत्व को अवगत करा दिया है. सूत्रों ने यह भी कहा कि लोकसभा उपाध्यक्ष का पद मात्र औपचारिक है जो उनके बहुत ज्यादा काम का नहीं है. सूत्रों के अनुसार बीजेपी लोकसभा में ये पद जगन मोहन की पार्टी वाईएसआसीपी या ओडिशा में बीजेडी को देना चाहती है. इसके पीछे बीजेपी की मंशा एनडीए के कुनबे को बढ़ाने की है. साथ ही राज्यसभा में बीजेपी इन दलों को साथ लाकर अपने अहम बिल भी पास कराना चाहती है.