राहुल गांधी के तीखे हमलों से तिलमिलाई BJP, लाएगी विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव
Advertisement
trendingNow1420159

राहुल गांधी के तीखे हमलों से तिलमिलाई BJP, लाएगी विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

राहुल के हमलों से तिलमिलाई बीजेपी अब उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाने पर विचार कर रही है. 

राहुल गांधी के तीखे हमलों से तिलमिलाई BJP, लाएगी विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

नई दिल्ली: मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान लोकसभा में शुक्रवार को जबरदस्त हंगामा देखने को मिला. कांग्रेस की ओर से अध्यक्ष राहुल गांधी ने कमान संभाली. उन्होंने मोदी सरकार पर कई तीखे वार किए और पीएम नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया. राहुल ने राफेल डील से लेकर देश के कई हिस्सों में हो रही हिंसा को लेकर सरकार पर हमला बोला.

उधर, राहुल के हमलों से तिलमिलाई बीजेपी अब उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाने पर विचार कर रही है. पार्टी का कहना है कि सदन में राहुल गांधी ने रक्षा मंत्रालय और सरकार पर कई बेबुनियादी आरोप लगाए हैं. बीजेपी राफेल डील को लेकर राहुल के आरोपों को लेकर ज्यादा परेशान है. इसलिए उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने जा रही है.

इस संबंध में संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, "बीजेपी सांसद संसद के सामने गलत और गुलत तथ्य रखने के कारण राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएंगे."  

 

 

राफेल डील पर राहुल ने रक्षा मंत्री के घेरा
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील पर रक्षा मंत्री को घेरा. उन्होंने अपने भाषण में कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने उनसे कहा है कि राफेल जेट विमान पर भारत के साथ उनका कोई भी गोपनीय समझौता नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बारे में देश से झूठ बोला है.

राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार में प्रति विमान की कीमत 520 करोड़ रुपये थी लेकिन जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस गए और कुछ 'जादुई' शक्ति के साथ प्रति विमान इनकी कीमत 1600 करोड़ रुपये हो गई. उन्होंने कहा,"रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण यहां है. उन्होंने कहा था कि वह मूल्य के बारे में बताएंगी लेकिन उसके बाद उन्होंने स्पष्ट तौर पर बताया कि वह ऐसा नहीं कर सकती क्योंकि फ्रांस और भारत सरकार के बीच गोपनीय समझौता हुआ है." कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा राफेल समझौते के बारे में बोलने के वक्त सत्ता पक्ष के सांसदों ने शोरगुल के साथ उनके बयान का विरोध किया. 

Trending news