बीजेपी ने पूछा- राहुल गांधी बताएं कि उनकी 55 लाख रुपए की संपत्ति 9 करोड़ कैसे हो गई

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में चुनाव की तारीखें करीब आने के साथ ही पार्ट‍ियों के बीच आरोपों की बौछार और तीखी हो रही है.

बीजेपी ने पूछा- राहुल गांधी बताएं कि उनकी 55 लाख रुपए की संपत्ति 9 करोड़ कैसे हो गई
2004 के चुनावों में राहुल गांधी ने अपनी संप‍त्‍त‍ि 55 लाख बताई थी. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली: चुनाव की तारीखें जैसे जैसे करीब आ रही हैं, राजनीतिक दलों के बीच आरोप प्रत्‍यारोप और तीखे होते जा रहे हैं. पहले कांग्रेस ने कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्‍पा के सहारे बीजेपी आलाकमान पर निशाना साधा. अब बीजेपी ने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है. अब केंद्रीय मंत्री और पटना साहिब से बीजेपी उम्‍मीदवार रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए उनकी आय का स्रोत पूछ लिया है. उन्‍होंने कहा, राहुल गांधी बताएं कि उनकी संपत्‍त‍ि जो 2004 में 55 लाख थी, वह 2014 में बढ़कर 9 करोड़ कैसे हो गई.

रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में पूछा, राहुल गांधी जब से राजनीति में आए हैं, उनकी आय का स्रोत सिर्फ सांसद का वेतन है. इसके अलावा कोई दूसरा आय का स्रोत नहीं है. उनके 2004 के एफिडेविट में उनकी अाय 55 लाख 38 हजार रुपए बताई गई थी. 2009 तक आते आते ये इनकम 2 करोड़ हो गई. वहीं जब उन्‍होंने 2014 का चुनाव लड़ा तो उनकी आय बढ़कर 9 करोड़ हो गई. रविशंकर प्रसाद ने निशाना साधते हुए कहा कि हम सब ये जानना चाहते हैं कि 55 लाख से आपकी इन्‍कम बढ़कर 9 करोड़ कैसे हो गई.

‘येदियुरप्पा डायरी’ पर स्पष्टीकरण दें प्रधानमंत्री : वेणुगोपाल
बता दें कि कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि येदियुरप्‍पा ने सीएम रहते हुए बीजेपी आलाकमान को करोड़ों रुपए दिए थे. कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा द्वारा भाजपा के नेताओं को कथित तौर पर धन दिए जाने से जुड़ी डायरी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि इस मामले पर मोदी को स्पष्टीकरण देना चाहिए.

वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, ‘येदियुरप्पा डायरी से 1800 करोड़ रुपये के बड़े भ्रष्टाचार का संकेत मिलता है. इसकी जांच की जरूरत है क्योंकि इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के मोदी सरकार के दावे को भंडाफोड़ होता है.’

उन्होंने कहा, ‘इन डायरी से सामने आई बातों पर प्रधानमंत्री को स्पष्टीकरण देना चाहिए. प्रधानमंत्री इसका खुलासा करें कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने पैस लिए थे या नहीं.’ कांग्रेस महासचिव ने येदियुरप्पा से जुड़े भ्रष्टाचार के आरोपों का उल्लेख करते हुए कहा कि इस मामले की जांच लोकपाल से होनी चाहिए.