close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोनिया गांधी ने कहा- खतरे में है लोकतंत्र, बदले की राजनीति में लगी है केंद्र सरकार

कांग्रेस अध्यक्ष गांधी ने कहा, जनादेश का सबसे खतरनाक अंदाज में दुरुपयोग किया जा रहा है.

सोनिया गांधी ने कहा- खतरे में है लोकतंत्र, बदले की राजनीति में लगी है केंद्र सरकार
कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी के महासचिवों और प्रदेश प्रभारियों की बैठक का आयोजन किया गया. (फोटो साभार: Twitter/Congress)

नई दिल्ली: कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi)  ने गुरुवार को केंद्र पर तीखा हमला करते हुए कहा कि देश में आर्थिक स्थिति बहुत गंभीर है, लेकिन सरकार अभूतपूर्व 'प्रतिशोध की राजनीति' में लिप्त है.

कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी के महासचिवों, प्रदेश प्रभारियों और सभी राज्यों के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्षों से सोनिया ने कहा, "लोकतंत्र खतरे में है. जनादेश का सबसे खतरनाक अंदाज में दुरुपयोग किया जा रहा है. गांधी, पटेल, आंबेडकर जैसे नेताओं के संदेशों की गलत व्याख्या कर वह अपने नापाक एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं.''

सोनिया गांधी ने कहा, "आर्थिक स्थिति की हालत बहुत गंभीर स्थिति में है. घाटे में वृद्धि हो रही है. सरकार जो भी कर रही है वह बढ़ते नुकसान से ध्यान हटाने के लिए अनोखी बदले की राजनीति में शामिल है."

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया ने 2007 और 2009 के बीच आर्थिक मंदी से निपटने में यूपीए शासन की उपलब्धियों को भी याद किया. उन्होंने पार्टी के नेताओं से कहा कि हमारी सरकार ने आर्थिक मंदी के दौरान अर्थव्यवस्था को मंदी से निकाला था. उन्होंने यह भी याद किया कि कैसे यूपीए सरकार के दौरान कांग्रेस सरकार रोजगार पैदा करने में सक्षम थी.

पार्टी सूत्र ने कहा कि आर्थिक मंदी को लेकर सरकार की खिंचाई करते हुए सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं से कहा कि सरकार कई क्षेत्रों में नौकरियों को बचाने में असमर्थ रही है.

सोनिया गांधी के दोबारा पार्टी की कमान संभालने के बाद उनकी अध्यक्षता में पार्टी की यह पहली बड़ी बैठक थी. सोनिया गांधी ने इस बैठक की अध्यक्षता की और बतौर महासचिव प्रियंका इसमें मौजूद रहीं.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में पार्टी की इस बैठक में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल और एके एंटनी समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे.

AICC की बैठक आज, एमपी में छिड़ी जंग को लेकर सोनिया गांधी से मिलेंगे सिंधिया
खास बात यह है कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटने के बाद यह पहली बैठक है जिसमें राहुल गांधी मौजूद नहीं हैं. दरअसल, राहुल के पास फ़िलहाल कांग्रेस में कोई पद नहीं है. इसी वजह से वह शामिल नहीं हुए.