असम: NDFB के बंद का रहा व्यापक असर, दुकानें बंद, वाहन सड़कों से रहे नदारद

एनडीएफबी के अध्यक्ष रंजन देमारी और नौ अन्य दोषियों को बम विस्फोट के मामले में उम्रकैद की सजा दी गई थी.

असम: NDFB के बंद का रहा व्यापक असर, दुकानें बंद, वाहन सड़कों से रहे नदारद
एनडीएफबी ने 12 घंटे के बंद का आह्वान किया था. (फोटो साभार: INDIA.COM)

गुवाहाटी: असम में बृहस्पतिवार को नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के अपने अध्यक्ष रंजन देमारी और नौ अन्य दोषियों को दी गई उम्रकैद की सजा के खिलाफ बुलाए गए असम बंद से बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र जिलों में जनजीवन पटरी से उतर गया.

हालांकि पुलिस ने कहा कि इस दौरान किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं मिली है. सुबह पांच बजे से शुरू हुए बंद का कोकराझार, चिरांग, बक्सा और उदालगिरी जिलों में खासा असर देखने को मिला जहां सभी दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे और वाहन भी सड़कों से नदारद रहे. यह चारों बोडो जनजाति बहुल जिले हैं और इन्हें मिलाकर बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र जिलों (बीटीएडी) का गठन हुआ है.

गौरतलब है कि बुधवार को सीबीआई की विशेष अदालत ने एनडीएफबी के अध्यक्ष रंजन देमारी और नौ अन्य लोगों को असम में 2008 में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के लिये उम्रकैद की सजा सुनाई थी, जिसके खिलाफ एनडीएफबी ने 12 घंटे के बंद का आह्वान किया था.

(इनपुट भाषा से)