'ममता सरकार मेरे सामने एक-एक करके बैट्समैन भेज रही है, मैं कोई बॉलर नहीं, अंपायर हूं'

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि मैं इस राज्य का अंपायर हूं, कोई बॉलर नहीं.

'ममता सरकार मेरे सामने एक-एक करके बैट्समैन भेज रही है, मैं कोई बॉलर नहीं, अंपायर हूं'
धनखड़ ने सरकार के साथ अपनी तनातनी पर टिप्पणी की. (फाइल फोटो)

कोलकाता(अयान घोषाल): पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) आज सुबह कोलकाता के लेक कालीबाड़ी पहुंचे. इस दौरान धनखड़ ने सरकार के साथ अपनी तनातनी पर टिप्पणी करते हुए कहा कि क्रिकेट टीम की तरह एक-एक करके राज्य सरकार मेरे सामने बैट्समैन (बल्लेबाज) भेज रही है और वे मेरे ऊपर टिप्पणी कर रहे हैं. मैं इस राज्य का अंपायर हूं, कोई बॉलर नहीं.''

राज्यपाल ने कहा, ''मैं मुख्यमंत्री के साथ बात करने को तैयार हूं. वो आएं तो सही. बात करें कोई दिक्कत नहीं है. मैं बहन चंद्रिमा को भी कहता हूं कि आपके खुद के दफ्तर में कितनी समस्याए हैं. आप अब मेरी बात छोड़कर उनके बारे में सोचिये, उन पर ध्यान दीजिये. ऐसा न हो कि सब लोग एक साथ मधुमक्खी के छत्ते पर हाथ डाले और उन्हीं के लिए समस्या पैदा हो जाए.

यह भी पढ़ें- ममता सरकार का फिर राज्‍यपाल धनखड़ को हेलीकॉप्‍टर देने से इनकार, सड़क मार्ग से करेंगे सफर

राज्यपाल ने तल्ख लहजे में कहा, ''26 तारीख को संविधान दिवस है और उसके पहले ही राज्य सरकार से सवाल पूछिए कि राज्य के संविधान के प्रधान के तौर पर क्या मुझे थोड़ा बहुत भी सम्मान मिलता है या सहयोगिता मिलती है? क्यों नहीं मिलता? पूछिए इनसे.''

राज्यपाल ने कोलकाता के मेयर बॉबी हाकिम पर भी सवाल करते हुए कहा, ''बॉबी हाकिम भाई आप तो स्वच्छता अभियान का पालन करते हो, आज राज भवन से रबिन्द्र सरोवर आने के दौरान शहर की जो हालत देखी आपने क्या वो देखा है? क्या हालत है एकदिन खुद सुबह निकल कर देखिए.''