close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आंध्र प्रदेश होगा बंद, YSR कांग्रेस केंद्र में किसी को भी समर्थन देने को तैयार, बशर्ते...

वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि उनकी केवल एक ही मांग है कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए.

आंध्र प्रदेश होगा बंद, YSR कांग्रेस केंद्र में किसी को भी समर्थन देने को तैयार, बशर्ते...
फाइल फोटो

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश में प्रभाव रखने वाली वाईएसआर कांग्रेस ने कहा है कि वह केंद्र में किसी भी पार्टी को समर्थन करने के लिए तैयार है, लेकिन इसके लिए पार्टी ने एक शर्त लगाई है. वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि उनकी केवल एक ही मांग है कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए. इसके लिए पार्टी ने मंगलवार को राज्य में बंद का ऐलान भी किया है.

रेड्डी ने काकीनाड़ा में कहा, 'हम राष्ट्रीय स्तर पर किसी भी पार्टी का समर्थन कर सकते हैं. हमारी केवल एक मांग है और वो है आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा.' उन्होंने कहा, 'भाजपा सरकार ने राज्य के साथ जो अन्याय किया है, उसके खिलाफ हम मंगलवार को आंध्र प्रदेश में बंद का आह्वान कर रहे हैं.' उनके इस बयान से माना जा रहा है कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी को लेकर एक सॉफ्ट कॉर्नर दिखाया है. क्योंकि भाजपा सरकार के खिलाफ वह बंद का आह्वान कर रहे हैं और साथ ही यदि विशेष राज्य के मुद्दे पर किसी के भी साथ जाने के लिए तैयार हैं.

उल्लेखनीय है कि जगन मोहन रेड्डी को केंद्र और राज्य में कांग्रेस सरकार के दौरान बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा था और उन्हें जेल भी जाना पड़ा. हालांकि जगन मोहन के कांग्रेस से पुराने संबंध हैं. उनके पिता वाईएसआर रेड्डी राज्य के मुख्यमंत्री थे और कांग्रेस के कद्दावर नेता थे. मुख्यमंत्री पद पर रहने के दौरान ही एक हवाई दुर्घटना में उनकी मौत हो गई थी, जिसके बाद जगन मोहन रेड्डी ने मुख्यमंत्री पद पर अपना दावा किया. कांग्रेस आलाकमान के इनकार करने के बाद उन्होंने वाईएसआर कांग्रेस के नाम से अलग पार्टी बना ली.

आंध्र प्रदेश में विशेष राज्य का मुद्दा बेहद महत्वपूर्ण है. राज्य की सत्ताधारी पार्टी टीडीपी कल इसी मुद्दे पर लोकसभा में केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई थी. हालांकि ये प्रस्ताव भारी बहुमत से गिर गया. लेकिन टीडीपी राज्य में इसका फायदा उठाने की पूरी कोशिश करेगी. वाईएसआर कांग्रेस के ताजा कदम को टीडीपी के अविश्वास प्रस्ताव का जवाब माना जा रहा है.