Annapurna Jayanti 2022: अन्नपूर्णा जयंती पर भूल से किए गए ये काम खाली कर देंगे अन्नभंडार, नाराज हो जाएंगी मां पार्वती
topStories1hindi1475062

Annapurna Jayanti 2022: अन्नपूर्णा जयंती पर भूल से किए गए ये काम खाली कर देंगे अन्नभंडार, नाराज हो जाएंगी मां पार्वती

Annapurna Jayanti 2022 Date: मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को अन्नपूर्णा जयंती मनाई जाती है. इस बार अन्नपूर्णा जयंती 8 दिसंबर के दिन मनाई जाएगी. इस दिन अन्न की देवी अन्नपूर्णा माता की पूजा की जाती है. जानें इस दिन क्या नहीं करना चाहिए. 

 

Annapurna Jayanti 2022: अन्नपूर्णा जयंती पर भूल से किए गए ये काम खाली कर देंगे अन्नभंडार, नाराज हो जाएंगी मां पार्वती

Annapurna Jayanti Niyam: हिंदू धर्म में हर तिथि का अपना विशेष महत्व है. मार्गशीर्ष माह के आखिरी दिन यानी पूर्णिमा तिथि के दिन अन्नपूर्णा जयंती मनाई जाती है. इस दिन अन्न की देवी अन्नपूर्णा की पूजा का विधान है. मान्यता है कि इस दिन मां पार्वती धरती पर अवतरित हुई थीं. इसलिए इस दिन मां पार्वती की पूजा की जाती है. शास्त्रों के अनुसार इस दिन मां पार्वती की पूजा करने से जीवन में धन-धान्य की कमी नहीं होती. इतना ही नहीं, इस दिन रसोई घर की सफाई के साथ-साथ किचन की पूजा करने का भी विधान है. 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस बार अन्नपूर्णा जयंती 8 दिसंबर को मनाई जाएगी. ऐसे में इस दिन शुभ मुहूर्त में पूजा करने से मां पार्वती की कृपा प्राप्त होती है और घर में अन्न भंडार भरे रहते हैं. इस दिन ज्योतिष अनुसार कुछ कार्य करने की मनाही होती है. अगर इन बातों का ध्यान न रखा जाए, तो मां पार्वती रुष्ट हो जाती हैं और रुठ कर चली जाती हैं.

अन्नपूर्णा जयंती पर भूलकर भी न करें ये काम 

- अन्नपूर्णा जयंती पर अन्न की पूजा करने का विधान है.ऐसे में आज के दिन अन्न का अपमान भूलकर भी न करें. कहते हैं कि इस दिन जो व्यक्ति अन्न का अपमान करता है, उसके अन्न भंडार हमेशा के लिए खाली हो जाते हैं. 

- शास्त्रों में कहा है कि घर आए मेहमान का कभी भी अपमान न करें. इसके अलावा, अगर इस दिन आपसे घर पर कोई व्यक्ति मिलने आता है, तो उसे भोजन कराकर ही भेजना चाहिए.

- अन्नपूर्णा जयंती के दिन व्यक्ति को तामसिक भोजन से परहेज करना चाहिए. इस न तो किचन में ऐसा भोजन बनाना चाहिए और न ही खाना चाहिए. इस दिन घर के भोजन में प्याज और लहसुन का प्रयोग न करें. ऐसा करने से मां अन्नपूर्णा नाराज हो जाती हैं. 

- मान्यता है कि इस दिन किसी भी व्यक्ति को भूलकर भी नमक का दान न करें. इस दिन सिर्फ अन्न का दान करने का महत्व है. इस दिन दान करने को शुभ माना गया है. कहते हैं कि इस दिन किसी से नमक लेना भी नहीं चाहिए. 

- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अन्नपूर्णा जयंती पर रसोईघर की साफ-सफाई का खास ध्यान रखें. इस दिन घर को भी गंदा न करें. इसके अलावा, मां अन्नपूर्णा की पूजा के बाद ही भोदन बनाएं. ऐसा करने से अन्नपूर्णा मां प्रसन्न होती हैं. 

अपनी फ्री कुंडली पाने के लिए यहां क्लिक करें
 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 
   

Trending news