close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शुरू हुई पंचकोसी परिक्रमा, ड्रोन कैमरों से अयोध्या पर नजर

पंचकोसी परिक्रमा पांच कोस लगभग 16 किलोमीटर की होती है. यह परिक्रमा मुख्य रूप से मोहल्ला हलकारापुरवा, आसिफबाग, हैबतपुर, महोबरा बाजार, ब्रहमकुण्ड, गुरूद्वारा के सामने गली से गुजरती है.

शुरू हुई पंचकोसी परिक्रमा, ड्रोन कैमरों से अयोध्या पर नजर
परिक्रमा और अयोध्या पर आने वाले फैसले को देखते हुए पुलिस यहां पर मुस्तैद है.

अयोध्या: अयोध्या (Ayodhya) में 14 कोसी परिक्रमा (14 Kosi Parikrama) के बाद गुरुवार (7 नवंबर) से पंचकोसी परिक्रमा शुरू होगी. पंचकोसी परिक्रमा सुबह 9:47 पर शुरू हो गई है और 8 नवंबर की दोपहर 12:00 बजे तक यह परिक्रमा चलेगी. परिक्रमा और अयोध्या पर आने वाले फैसले को देखते हुए पुलिस यहां पर मुस्तैद है. परिक्रमा के मद्देनजर ड्रोन कैमरों से अयोध्या पर नजर रखी जाएगी. 

पंचकोसी परिक्रमा पांच कोस लगभग 16 किलोमीटर की होती है. यह परिक्रमा मुख्य रूप से मोहल्ला हलकारापुरवा, आसिफबाग, हैबतपुर, महोबरा बाजार, ब्रहमकुण्ड, गुरूद्वारा के सामने गली से गुजरती है. इस मेला में भी विशेष रूप से स्वास्थ सम्बन्धी सेवाओं एवं हलकारा का पुरवा, गुप्ता होटल, ब्रम्हकुण्ड गुरूद्वारा और कन्ट्रोल रूम में एम्बुलेंस सर्विस की व्यवस्था की गयी है. साथ ही उनके रेस्क्यू टीम भी लगाई गयी है. 

इसी के साथ मोबाइल टॉयलेट, पीने का पानी आदि की व्यवस्था श्रद्धालुओं के लिए की गई है. श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े इसलिए विशेष रूप से रेलवे क्रांसिगों और स्नान घाटों पर सतर्कता बरतने के निर्देश दिये गये है.

14 कोसी परिक्रमा के दौरान श्रद्धालुओं के सैलाब को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पंचकोसी परिक्रमा की भी तैयारी मुस्तैदी से की है. श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए उचित मात्रा में बैरीकेटिंग भी की गयी है, जिससे उनके आवागमन में असुविधा न हो. 

वहीं कल (6 नवंबर) हुई प्रशासनिक बैठक के बाद जिलाधिकारी अनुज कुमार झा,  पुलिस महानिरीक्षक डॉ. संजीव गुप्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी आदि अधिकारियों ने 14 कोसी परिक्रमा सम्पन्न होने पर अधिकारियों, कर्मचारियों, आम जनता, श्रद्धालुओं, मीडिया कर्मियों, संत महंतों के परम्परागत सहयोग के प्रति आभार व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से 14 कोसी परिक्रमा सम्पन्न हो गई, उसी तरह से पंचकोशी परिक्रमा के भी संपन्न होने की उम्मीद है.