1 जुलाई से शुरू होगी चारधाम यात्रा, इस राज्य के लोग कर सकेंगे दर्शन

सरकार ने गाइडलाइन जारी करते हुए 1 जुलाई से यात्रा को शुरू करने आदेश जारी किए है.

1 जुलाई से शुरू होगी चारधाम यात्रा, इस राज्य के लोग कर सकेंगे दर्शन

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) काल में सरकार ने बंदिशों को खत्म करते हुए चारधाम यात्रा को मंजूरी दे दी है. सरकार ने गाइडलाइन जारी करते हुए 1 जुलाई से यात्रा को शुरू करने आदेश जारी किए है. हालांकि शुरुआत में यात्रा सिर्फ राज्य स्तर पर शुरु की है.  

नई गाइडलाइन के अनुसार राज्य के ग्रीन जोन में रहने वाले सभी लोग इस यात्रा का लाभ ले सकेंगे. इसके अलावा कंटेनमेंट जोन और बफर जोन में रहने वाले किसी भी व्यक्ति को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी. गौरतलब है कि यात्रा शुरू करने से पूर्व देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण जरूरी होगा, इसमें अपनी पूरी जानकारी के साथ एक सेल्फ डिक्लेरेशन करना होगा, इसके बाद ही ई-पास जारी होगा. बताते चलें कि सभी मानकों और शर्तो के पूरा होने पर ही यात्रा की अनुमति दी जाएगी.  

सरकार ने प्रत्येक व्यक्ति को हर धाम में एक रात ठहरने की इजाजत दी है. इस दौरान हैंड सैनिटाइजर, मास्क व सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य होगा. किसी भी आपदा की स्थिति में स्थानीय प्रशासन की अनुमति लेने की बात भी आदेशों में कही गई है. उल्लेखनीय है कि कोरोना के मद्देनजर सरकार ने 65 साल से अधिक के बुजुर्ग व 10 साल से कम के बच्चे इस यात्रा में भाग नहीं ले सकेंगे. 

इसके अलावा कोई भी श्रद्धालु धाम में मंदिर के गर्भगृह, सभा मंडप के अग्रभाग में नहीं जा सकेंगे. साथ ही मंदिर में प्रवेश से पहले हाथ पैर धोना जरूरी होगा और परिसर के बाहर से लाए किसी प्रसाद चढ़ावे को मंदिर परिसर में लाना वर्जित रहेगा. कोरोना नियमों के मद्देनजर देवमूर्ति को स्पर्श करने की इजाजत भी सरकार ने नहीं दी है.

ये भी पढ़ें:- वाहन मालिक कृपया ध्यान दें...नहीं तो ऐसी गाड़ियों का प्रयोग हो जाएगा अवैध