close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ समाप्त हुआ महापर्व छठ, लोगों में दिखी अपार श्रद्धा

रविवार भोर से ही गंगा घाटों के पास व्रतियों की भारी भीड़ भास्कर भगवान को अर्घ्य देने के लिए जमा हो गई. इस दौरान सरकार ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त भी किए थे. 

बिहार: उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ समाप्त हुआ महापर्व छठ, लोगों में दिखी अपार श्रद्धा
आस्था और विश्वास के महापर्व छठ पर उगते सूर्य को अर्घ्य देती व्रती महिलाएं.

पटना: लोक आस्था और विश्वास का महापर्व छठ (Chhath) पूजा का आज भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के साथ ही समापन हो गया.

बीते चार दिनों से इस पर्व की बिहार- झारखंड सहित देश के विभिन्न राज्यों में धूम थी. हर तरफ हर्षोल्लास का माहौल था. 

लोग इस पर्व को लेकर खासे उत्साहित थे. यह महापर्व गुरुवार 31 अक्टूबर को नहाए-खाय के साथ शुरू हुआ था .

इसके बाद शुक्रवार को दूसरे दिन खरना का आयोजन किया गया और फिर शनिवार को डूबते हुए सूर्य को पहला अर्घ्य दिया गया.

इस पर्व की सबसे खास बात यह है कि महिलाएं और पुरुष इसमें 36 घंटे तक निर्जला व्रत रखते हैं और छठी मैया की उपासना करते हैं.

रविवार भोर से ही गंगा घाटों के पास व्रतियों की भारी भीड़ भास्कर भगवान को अर्घ्य देने के लिए जमा हो गई. इस दौरान सरकार ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त भी किए थे. 

बिहार के जहानाबाद, पटना, सहरसा, औरंगाबाद के देव, डेहरी-ऑन-सोन, सासाराम, भभुआ, जमुई, बांका, गया, बेगुसराय सहित तमाम जगहों पर इस पर्व की धूम रही.

राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपने पटना स्थित आवास पर छठ पर्व का आयोजन किया. सीएम नीतीश ने भी रविवार को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया.

इस दौरान सीएम नीतीश कुमार का पूरा परिवार मौजूद रहा. छठ के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को इस पर्व की शुभकामनाएं दी.

आपको बता दें कि इस पर्व के दौरान व्रती महिलाएं छठी मैया की उपासना करती हैं. साथ ही अपने परिवार के स्वस्थ्य और सुखद जीवन की कामना करती हैं .