अहोई अष्टमी 2018: बच्चों के लिए कल मां रखेंगी व्रत, जानें पूजन का क्या है शुभ मुहूर्त

अहोई अष्टमी का त्योहार कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष के आठवें दिन मनाया जाता है. इस दिन शुभ मुहूर्त में अहोई माता की पूजा करने से संतान का जीवन खुशियों से भर जाता है. 

अहोई अष्टमी 2018: बच्चों के लिए कल मां रखेंगी व्रत, जानें पूजन का क्या है शुभ मुहूर्त
फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिवाली से आठ दिन पहले और करवा चौथ के चार दिन बाद मनाया जाने वाला अहोई अष्टमी का त्योहार महिलाओं के लिए खास होता है, जिस तरह करवा चौथ पर महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती है, उसी तरह अहोई अष्टमी के व्रत रखकर वो अपनी संतान की दीर्घायु के लिए प्रार्थना करती हैं. अहोई अष्टमी का त्योहार कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष के आठवें दिन मनाया जाता है. इस दिन शुभ मुहूर्त में अहोई माता की पूजा करने से संतान का जीवन खुशियों से भर जाता है. 

उत्तर भारत में अहोई अष्‍टमी के व्रत का विशेष महत्‍व है. इसे 'अहोई आठे' भी कहा जाता है क्‍योंकि यह व्रत अष्टमी के दिन पड़ता है. अहोई यानी के 'अनहोनी से बचाना'. किसी भी अमंगल या अनिष्‍ट से अपने बच्‍चों की रक्षा करने के लिए महिलाएं इस दिन व्रत रखती हैं. यही नहीं संतान की कामना के लिए भी यह व्रत रखा जाता है. इस दिन महिलाएं कठोर व्रत रखती हैं और पूरे दिन पानी की बूंद भी ग्रहण नहीं करती हैं. दिन भर के व्रत के बाद शाम को तारों को अर्घ्‍य दिया जाता है. हालांकि चंद्रमा के दर्शन करके भी यह व्रत पूरा किया जा सकता है, लेकिन इस दौरान चंद्रोदय काफी देर से होता है इसलिए तारों को ही अर्घ्‍य दे दिया जाता है. 

ये भी पढ़ें: 31 अक्टूबर को मनाई जाएगी अहोई अष्टमी, जानें क्या है विधि और कथा

इस व्रत में भी बायना निकालकर सास, ननद या जेठानी को दिया जाता है. अहोई माता की माला को दीवाली तक गले में पहनना होता है. यह व्रत निर्जला रखा जाता है. इस दिन महिलाएं तारों को अर्घ्य देकर व्रत खोलती हैं. शाम के समय चंद्रमा को अर्घ्य देकर कच्चा भोजन किया जाता है. 

तिथि और शुभ मुहूर्त
कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी यानी 31 अक्टूबर को अहोई अष्टमी मनाई जाएगी
अष्टमी तिथि प्रारंभ: 31 अक्‍टूबर 2018 को सुबह 11 बजकर 09 मिनट से
अष्टमी तिथि समाप्त: 01 नवंबर 2018 को सुबह 09 बजकर 10 मिनट तक
पूजा का शुभ समय: 31 अक्‍टूबर 2018 को शाम 05 बजकर 45 मिनट से शाम 07 बजकर 02 मिनट तक
कुल अवधि: 1 घंटे 16 मिनट
तारों को देखने का समय: 31 अक्‍टूबर को शाम 06 बजकर 12 मिनट
चंद्रोदय का समय: 1 नवंबर 2018 को रात 12 बजकर 06 मिनट