वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड का एक और तोहफा, अब श्रद्धालुओं को मिलेगी ये सुविधा

बोर्ड के अनुसार, अटका स्थल पर करीब 300 श्रद्धालु ही एक समय में शामिल हो सकते हैं. परंतु, कोरोना महामारी को लेकर श्राइन बोर्ड ने फिलहाल 90 श्रद्धालुओं को ही बैठने की इजाजत दी है.

वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड का एक और तोहफा, अब श्रद्धालुओं को मिलेगी ये सुविधा

श्रीनगर: माता वैष्णो देवी (Vaishno Devi) के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी है. श्राइन बोर्ड ने दूसरे राज्यों से दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाकर 1000 प्रतिदिन कर दी है. कोरोना के कारण पहले ये संख्या 500 प्रतिदिन थी. 

अटका आरती में शामिल हो सकेंगे श्रद्धालु
इसके साथ ही श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं को दिव्य अटका आरती में शामिल होने की इजाजत भी दे दी है. अब श्रद्धालु ऑनलाइन बुकिंग के साथ ही करंट बुकिंग के जरिए अटका आरती में शामिल हो सकेंगे. बोर्ड के अनुसार, अटका स्थल पर करीब 300 श्रद्धालु ही एक समय में शामिल हो सकते हैं. परंतु, कोरोना महामारी को लेकर श्राइन बोर्ड ने फिलहाल 90 श्रद्धालुओं को ही बैठने की इजाजत दी है. इस दौरान श्रद्धालुओं को शारीरिक दूरी का ध्यान रखना होगा और मास्क पहनना भी जरूरी होगा. 

ये भी पढ़ें:- एक लापता बंदर की हो रही तलाश, खोजने वाले को मिलेंगे 50 हजार

डॉरमेट्री सुविधा की वापस हुई शुरुआत
दूसरी ओर, श्राइन बोर्ड ने वैष्णो देवी भवन के साथ ही आधार शिविर कटरा में श्रद्धालुओं के लिए डॉरमेट्री बेड की सुविधा भी शुरू कर दी है. श्रद्धालु कटरा हो या फिर वैष्णो देवी, वे हर जगह इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. श्राइन बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार ने बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अटका आरती व्यवस्था एक बार फिर शुरू कर दी है. साथ ही बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को भी दोगुना किया गया है और इसके साथ डॉरमेट्री बेड की व्यवस्था भी दोबारा शुरू कर दी गई है ताकि श्रद्धालुओं को वैष्णो देवी यात्रा के दौरान किसी भी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े.