जन्म की राशि से जानें कौन हैं आपके इष्टदेव, उनकी पूजा से शुभ फल की होती है प्राप्ति
X

जन्म की राशि से जानें कौन हैं आपके इष्टदेव, उनकी पूजा से शुभ फल की होती है प्राप्ति

अगर आपको भी अपने इष्ट देव के बारे में जानकारी नहीं है तो अपनी कुंडली या राशि के अनुसार आप अपने इष्ट देव की पहचान कर सकते हैं क्योंकि उनकी पूजा से शुभ फल की प्राप्ति होती है.

जन्म की राशि से जानें कौन हैं आपके इष्टदेव, उनकी पूजा से शुभ फल की होती है प्राप्ति

नई दिल्ली: वैसे तो कोई भी व्यक्ति अपनी इच्छा और श्रद्धा अनुसार किसी भी देवी-देवता की पूजा कर सकता है लेकिन अपने इष्ट देव (Isht Dev) की पूजा करना विशेष रूप से महत्वपूर्ण माना जाता है. इसका कारण ये है कि इष्ट देव का संबंध हमारे कर्मों और हमारे जीवन से होता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इष्ट देव की पूजा करने से व्यक्ति को अच्छे और शुभ फल की प्राप्ति होती है. इष्ट देव का अर्थ है अपनी पसंद के देवता. लेकिन अगर किसी को इस बारे में पता ना हो तो आखिर इष्ट देव की पहचान कैसे की जा सकती है?

कुंडली के पंचम भाव से इष्ट देव की पहचान

ज्योतिष शास्त्र (Jyotish) की मानें तो आपके जन्म की तारीख (Birth date), आपके नाम के पहले अक्षर की राशि या जन्म कुंडली की राशि (Kundli Rashi) के आधार पर इष्टदेव की पहचान की जा सकती है. अरुण संहिता जिसे लाल किताब के नाम से भी जाना जाता है, के अनुसार व्यक्ति के पूर्व जन्म में किए गए कर्म के आधार पर इष्ट देवता का निर्धारण होता है और इसके लिए जन्म कुंडली देखी जाती है. कुंडली का पंचम भाव इष्ट का भाव माना जाता है. इस भाव में जो राशि होती है उसके ग्रह के देवता ही हमारे इष्ट देव कहलाते हैं. इष्ट देव की पूजा करने से ये फायदा होता कि कुंडली में चाहे कितने भी ग्रह दोष क्यों न हों, अगर इष्ट देव प्रसन्न हैं तो यह सभी दोष व्यक्ति को अधिक परेशान नहीं करते.

ये भी पढ़ें- आखिर इष्ट देव को मानना क्यों जरूरी है, शास्त्रों में बताई गई है वजह

राशि अनुसार जानें अपने इष्ट देव को

मेष और वृश्चिक- मेष (Aries) और वृश्चिक (Scorpio) राशि का स्वामी ग्रह मंगल है इसलिए इन दोनों राशिवालों के इष्टदेव हनुमानजी और राम जी हैं.
वृषभ और तुला- वृषभ (Tauras) और तुला (Libra) राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है और इसलिए इनकी इष्ट देवी मां दुर्गा हैं, उन्हें इनकी आराधना करनी चाहिए.
मिथुन और कन्या- मिथुन (Gemini) और कन्या (Virgo) राशि का स्वामी ग्रह बुध है और इसलिए उनके इष्ट देव गणेशजी और विष्णुजी हैं और उन्हें इनकी पूजा करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- कुंभ संक्रांति पर करें सूर्य चालीसा का पाठ, जानें कुंभ राशिवालों पर होगा कैसा असर

कर्क- कर्क (Cancer) राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा है और इन लोगों के इष्ट देव शिवजी हैं. इनकी पूजा से विशेष फल मिलता है.
सिंह- सिंह (Leo) राशि वालों का स्वामी ग्रह सूर्य है और उनके इष्ट देव हनुमान जी और मां गायत्री हैं.
धनु और मीन- धनु (Sagitarius) और मीन (Pisces) राशिवालों के स्वामी ग्रह गुरु हैं और उनके इष्ट देव विष्णु जी और लक्ष्मी जी हैं.
मकर और कुंभ- मकर (Capricorn) और कुंभ (Aquarius) राशि के स्वामी शनि हैं इसलिए उनके इष्ट देव हनुमान जी और शिव जी हैं. उनकी पूजा से विशेष फल की प्राप्ति होती है.

धर्म से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Trending news