Zee Rozgar Samachar

दिव्य शक्तियों से जोड़ती है जपमाला, जप करने से पहले जान लें ये जरूरी नियम

किसी भी जप माला में न सिर्फ उसकी संख्या बल्कि उसके मनकों का बहुत महत्व होता है. विभिन्न प्रकार की साधना के लिए अलग-अलग प्रकार के मनकों का प्रयोग किया जाता है.

दिव्य शक्तियों से जोड़ती है जपमाला, जप करने से पहले जान लें ये जरूरी नियम

नई दिल्ली: किसी भी पूजा या साधना में जपमाला का अत्यंत महत्व है. ​तमाम धर्मों में ईश्वर या फिर कहें देवताओं की साधना-अराधना के लिए जपमाला का प्रावधान है. सनातन परंपरा में 108 दानों या फिर कहें मनकों की माला अत्यंत शुभ मानी गई है. हालांकि 27 और 54 दानों की माला भी प्रयोग में लाई जाती है. किसी भी माला को पूजा या जप के लिए प्रयोग में लाने से पहले उसका विधि-विधान से पूजन जरूरी होता है. जप माला को प्रयोग से पहले कच्चे दूध से स्नान कराएं. इसके बाद उसे गंगाजल से धो लें.

किसी भी जप माला में न सिर्फ उसकी संख्या बल्कि उसके मनकों का बहुत महत्व होता है. विभिन्न प्रकार की साधना के लिए अलग-अलग प्रकार के मनकों का प्रयोग किया जाता है. सनातन परंपरा में विभिन्न देवी-देवताओं और कामनाओं के लिए अलग-अलग प्रकार की माला से जप करने के लिए बताया गया है. जैसे तुलसी, कमलगट्टे, वैजयंती, मोती, मूंगा, हल्दी, आदि. अहम बात यह ​है कि कई प्रकार की साधना में कुछेक माला का विशेष प्रयोग है तो वहीं कुछेक माला का निषेध भी बताया गया है. आइए जानते हैं कि किस देवी-देवता या कामना के लिए किस प्रकार की माला शुभ फल देने वाली होती है.

गणपति की साधना के लिए हांथी दांत की माला, लाल चंदन या रुद्राक्ष की माला से जप करें.

शत्रुओं पर विजय और माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए कमलगट्टे की माला से जप करें.

धन—संपत्ति, स्वर्ण आदि पाने के लिए मूंगे की माला से जप करें.

देवी दुर्गा और माता लक्ष्मी का विशेष आशीर्वाद पाने के लिए लाल चंदन की माला से जप करें.

भगवान राम, भगवान कृष्ण और भगवान विष्णु की कृपा ​पाने के लिए सफेद चंदन या तुलसी की माला से जप करें.

भगवान शिव और चंद्र देव की कृपा पाने के लिए स्फटिक की माला से जप करें.

भगवान विष्णु और भगवान ​कृष्ण की कृपा पाने के लिए वैजयंती की माला से जप करें.

गणपति की विशेष कृपा पाने के लिए हल्दी की माला से जप करें.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.