किसी भी मस्जिद में नहीं होगी नमाज, कोरोना वायरस की वजह से लिया गया फैसला

उन्होंने कहा कि ये हमारी सुरक्षा के लिए है और इस्लाम भी इसकी अनुमति देता है. 

किसी भी मस्जिद में नहीं होगी नमाज, कोरोना वायरस की वजह से लिया गया फैसला
फाइल फोटो- जामिया मस्जिद, श्रीनगर

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर (Jammu & Kashmir) में ग्रेंड मुफ्ती नसीरुल इस्लाम (Nasirul Islam) ने बताया कि कल यानी 27 मार्च को जुमे की नमाज अदा नहीं की जाएगी. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि शुक्रवार को अपने घर पर ही नमाज अदा करें. उन्होंने कहा कि ये हमारी सुरक्षा के लिए है और इस्लाम भी इसकी अनुमति देता है. 

नसीरुल इस्लाम ने गुरुवार को अपने बयान में लोगों से इस पर अमल करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि कश्मीर एक स्वास्थ्य आपदा की ओर बढ़ रहा है. इसलिए कल कश्मीर में किसी भी धर्मस्थल और मस्जिदों में शुक्रवार की नमाज अदा नहीं होनी चाहिए. हमें ये समझाना होगा कि हम एक आपदा में गिरे हुए है, और इसे हमे रोकना है.

मुफ्ती ने मस्जिदों के इमामों और खतीबों से ये अपील की है कि वो शुक्रवार की नमाज को आयोजित ना करे. उन्होंने कहा कि ये हमारी सुरक्षा के लिए है और इस्लाम भी इसकी अनुमति देता है. इसी कड़ी में उन्होंने आगे कहा कि सरकार द्वारा जारी निर्देशों का कोई उल्लंघन नहीं होना चाहिए. जहां तक ​बाकी आनी दिनों की पांच बार नमाज अदा करना का है तो उसपर मुफ्ती ने कहा कि मस्जिद के सिर्फ तीन लोग शामिल होगे, और वो मस्जिदों में पांच बार की नमाज अदा करने चाहिए, बाकी लोगों को घर पर ही नमाज अदा करनी चाहिए. इससे कश्मीर में महामारी फैल रही है उसे बचने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें:- कोरोना पैकेज: मुफ्त सिलेंडर, बीमा, EPF में सुविधा से लेकर गरीब तक सबके लिए कुछ न कुछ