Ganga Dashahara के दिन Vakri हो रहे हैं Guru, वक्री Shani के साथ मिलकर बनेंगे बड़े बदलावों का कारण

मां गंगा के अवतरण दिवस से गुरु उलटी चाल चलना शुरू करेंगे, जबकि शनि पहले से ही वक्री हैं. दोनों की वक्री स्थिति कई बदलावों का कारण बनेगी.

Ganga Dashahara के दिन Vakri हो रहे हैं Guru, वक्री Shani के साथ मिलकर बनेंगे बड़े बदलावों का कारण
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: 20 जून को गंगा दशहरा (Ganga Dashahara) है, इस दिन मां गंगा (Maa Ganga) का धरती पर अवतरण हुआ था. ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की दशमी को गंगा दशहरा मनाया जाता है. इस बार यह दिन बेहद खास है क्‍योंकि इसी दिन से देवगुरु यानी कि गुरु ग्रह (Guru Grah) वक्री हो रहे हैं. गुरु 18 अक्‍टूबर तक वक्री (Vakri) रहेंगे और कई चीजों पर असर डालेंगे. 

वक्री गुरु बढ़ाएंगे शनि का प्रभाव 

20 जून से गुरु ग्रह उलटी चाल चलेंगे, वहीं शनि (Shani) ग्रह पहले से ही वक्री हैं. ऐसे में इन 2 अहम ग्रहों का एक समय पर वक्री रहना कई बड़े बदलावों का कारण बनेगा. इससे वैश्चिक स्तर पर बड़े भौगोलिक, राजनीतिक और सामाजिक परिवर्तन हो सकते हैं. साथ ही वक्री गुरु शनि के प्रभाव को बढ़ाएंगे. 

यह भी पढ़ें: 15 जून को है चमत्‍कारिक Kainchi Dham का स्‍थापना दिवस, Steve Jobs-Mark Zuckerberg भी रहे हैं यहां

सहयोग बढ़ाएगी ग्रह दशा 

शनिदेव को न्‍याय का देवता माना जाता है, साथ ही वह जनता के भी कारक हैं. वहीं गुरु ज्ञान और विवेक के कारक हैं. इन दोनों का वक्री होना लोगों में ज्ञान-विवेक बढ़ाएगा, साथ ही इस दौरान न्याय के प्रति जागरुकता बढ़ेगी. लोग एक-दूसरे का सहयोग करेंगे. सत्ता में बैठे लोगों में भ्रष्ट होने और दमन करने का भाव भी कम रहेगा. 

मकर राशि में शनि के साथ रहेंगे गुरु 

इसके बाद गुरु ग्रह 14 सितंबर 2021 से 20 नवंबर तक मकर राशि में शनि के साथ रहेंगे. इस दौरान धर्म-अध्यात्म और सेवा की भावना बढ़ेगी. साथ ही यह स्थिति मेष, वृष, मिथुन, तुला, धनु, मकर और कुंभ राशियों के लिए अच्‍छी रहेगी. कर्क, कन्या, वृश्चिक और मीन राशि वालों को इस दौरान सतर्कता बरतनी चाहिए. गुरु और शनि के मंत्रों का पूजन-जाप करने से लाभ होगा. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.