Karwa Chauth 2021: कब है करवा चौथ? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त; पूजा की विधि और महत्व
X

Karwa Chauth 2021: कब है करवा चौथ? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त; पूजा की विधि और महत्व

इस साल करवा चौथ (Karwa Chauth 2021) का व्रत 24 अक्‍टूबर 2021, रविवार को है. साथ ही एक शुभ संयोग बनने से करवा चौथ रखने वाली महिलाओं-लड़कियों की हर मनोकामना पूरी होगी. 

Karwa Chauth 2021: कब है करवा चौथ? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त; पूजा की विधि और महत्व

नई दिल्‍ली: दशहरा बीतते ही करवा चौथ (Karwa Chauth) का इंतजार शुरू हो जाता है. पति (Husband) की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखने वाली सुहागिनें, मनपसंद जीवनसाथी की चाह में व्रत रखने वाली लड़कियां कई दिन पहले से इसकी तैयारियां भी शुरू कर देती हैं. करवा चौथ का व्रत कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाता है. इस साल करवा चौथ (Karwa Chauth 2021) का व्रत 24 अक्टूबर 2021 को रखा जाएगा. इस साल करवा चौथ पर ऐसा शुभ संयोग बन रहा है जो व्रतियों की हर मनोकामना पूरी करेगा. 

करवा चौथ पर बन रहा है शुभ संयोग 

इस साल करवा चौथ रविवार (Sunday) के दिन पड़ रहा है. ऐसा होना बहुत शुभ होता है. रविवार का दिन सूर्य देव (Surya Dev) को समर्पित है, जो कि सेहत और लंबी उम्र देते हैं. रविवार को करवा चौथ होने से सूर्य देव महिलाओं की मनोकामना पूरी करते हुए उन्‍हें और उनके पति को लंबी आयु का आशीर्वाद देते हैं. लिहाजा इस साल महिलाओं को करवा चौथ के दिन सूर्य देव से भी अपने पति की लंबी और सेहतमंद जिंदगी का आशीर्वाद मांगना चाहिए.  

यह भी पढ़ें: Garuda Purana: बुरे कर्म ही नहीं अच्‍छे काम भी ला सकते हैं जीवन में संकट, जानिए क्‍या है वजह

करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त 

इस साल करवा चौथ का चंद्रमा (Karwa Chauth 2021 Chandrodaya) रोहिणी नक्षत्र में उदित होगा. चंद्रमा रात को 08:11 पर निकलेगा. वहीं करवा चौथ की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर 2021 को शाम 06:55 से लेकर 08:51 तक रहेगा. करवा चौथ का व्रत (Karwa Chauth 2021) रख रही महिलाओं और लड़कियों को शुभ मुहूर्त में ही पूजा करना चाहिए.

इसके लिए चांद निकलने से कम से कम एक घंटा पहले ही पूजा शुरू कर दें. मिट्टी की वेदी पर सभी देवताओं की स्‍थापना करके करवा रख लें. वहीं पूजा की थाली में दीपक, रोली, सिंदूर आदि रख लें. पूजा करने के बाद करवा चौथ व्रत की कथा सुनें. चांद निकलने पर उसे अर्ध्‍य दें. पति का मुंह छलनी से देखें और उनके हाथ से पानी पीकर व्रत खोलें. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Trending news