Gopashtami: इस शुभ मौके पर करें गाय, गुरु और गोविंद की पूजा, बरसेगी कृपा

गोपाष्टमी पर्व (Gopashtami Festival 2020) हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है. इस साल यह पूजा 22 नवंबर यानी रविवार को की जाएगी. गोपाष्टमी पर गाय की पूजा की जाती है. कहा जाता है कि इससे धन-संपदा में वृद्धि होती है.

Gopashtami: इस शुभ मौके पर करें गाय, गुरु और गोविंद की पूजा, बरसेगी कृपा
गोपाष्टमी पर करें गाय का पूजन

नई दिल्ली. इस साल गोपाष्टमी (Gopashtami) का खास पर्व  22 नवंबर यानी रविवार को मनाया जाएगा. यह पर्व हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है. खासतौर से बृजवासी और वैष्णव लोग इस पर्व को काफी धूमधाम से मनाते हैं. गोपाष्टमी पर विशेष तौर से गाय की पूजा की जाती है. शास्त्रों के अनुसार, गाय में 33 करोड़ देवी-देवता वास करते हैं.

इस दिन देशभर के कृष्ण मंदिरों में पूजा-पाठ किया जाता है और कई तरह के भोग लगाए जाते हैं. गाय के साथ ही गुरु और गोविंद की भी पूजा करने से सुख-समृद्धि और धन की वृद्धि होती है. आप भी जानिए कि गोपाष्टमी पर किस तरह से पूजन किया जाना चाहिए.

गौ माता का महत्व
हिंदू धर्म में गाय को माता का दर्जा दिया गया है. शास्त्रों के अनुसार, गाय की सेवा करने से 33 करोड़ देवी-देवताओ का आशीर्वाद प्राप्त होता है. हिंदू धर्म में गाय की पूजा करना बेहद जरूरी बताया गया है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जो लोग गोपाष्टमी पर गाय की पूजा-अर्चना करते हैं, उन्हें सौभाग्य का आशीर्वाद मिलता है.

यह भी पढ़ें- Amla Navami 2020: इस तिथि पर करें आंवले के पेड़ की पूजा, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं

कैसे करें गोपाष्टमी पूजा
1. गोपाष्टमी पर प्रात: काल गाय और उसके बछड़े को स्नान कराकर उनका श्रृंगार किया जाता है. साथ ही उन्हें कई तरह के आभूषणों से सजाया जाता है.
2. गोपाष्टमी पर गाय माता के सींगों पर चुनरी बांधने की भी परंपरा है.
3. गोपाष्टमी के दिन सुबह-सुबह उठकर स्नान करने के बाद गाय माता के चरण स्पर्श जरूर करें. ऐसे करने से देवी-देवताओं का आशीर्वाद आप पर बना रहता है.

यह भी पढ़ें- Vastu Shastra: अगर बढ़ रहा है कर्ज का बोझ, तो ये वास्तुदोष हो सकते हैं जिम्मेदार

4. उसके बाद गाय माता की परिक्रमा की जाती है.
5. फिर गाय माता को चारा चराने के लिए बाहर ले जाने की परंपरा है.
6. गोपाष्टमी के दिन ग्वालों को उपहार में पैसे और कपड़े दिए जाते हैं. इस दिन दान देना शुभ माना जाता है.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

VIDEO