close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नवरात्रि 2019: यहां तलवार के साथ गरबा खेलती हैं राजपूत महिलाएं, दिखाती हैं गजब के करतब

 राजपिपला के राजपूत इलाके में पिछले 10 साल से अपनी बेटी अपने आंगन के तहत शेरी गरबा का आयोजन किया जाता है. जहां महिलाएं तलवारों के साथ करतब दिखते हुए गरबा खेलती हैं.

नवरात्रि 2019: यहां तलवार के साथ गरबा खेलती हैं राजपूत महिलाएं, दिखाती हैं गजब के करतब

नई दिल्लीः नवरात्रि में मां शक्ति की आराधना की जाती है और मां शक्ति की उपासना के लिए महिलाएं अपने घर के आंगन में ही गरबा खेलती हैं. इसी उपासना के तहत राजपिपला के राजपूत इलाके में पिछले 10 साल से अपनी बेटी अपने आंगन के तहत शेरी गरबा का आयोजन किया जाता है. जहां महिलाएं तलवारों के साथ करतब दिखते हुए गरबा खेलती हैं और माताजी की उपसना करती हैं. तलवार मां शक्ति का शौर्य माना जाता है. इस वजह से मां शक्ति को सबसे ज्यादा मैंने वाला राजपूत समाज तलवार की पूजा करता है.

नर्मदा जिले के राजपूत समाज की महिलाएं तलवार हो हाथों में रखकर मां शक्ति की उपासना करती हैं, यहां की महिलाएं तलवार के साथ कई करतब दिखाते हुए गरबा खेलती हैं, जो की इस इलाके का सबसे बड़ा आकर्षण होता है. आज के नए युग की महिलाएं भी तलवार से खेलती है वाकई यह बात सबको चकित करती है. इन राजपूतानियों ने आज के युग में भी पानी परंपरा को कायम रखा है. इन महिलाओं का कहना है की तलवार राजपूत समाज का शौर्य माना जाता है और मां शक्ति की ताकत तलवार में होती है. 

देखें वीडियो

नवरात्र के दौरान गुजरात में गरबा की धूम, सूरत में बच्चों ने स्केटिंग गरबा कर सबको किया हैरान

Rajput women play garba with sword in Rajpipla

महिलाओं का कहना है कि यह तलवार हाथ में आने के बाद एक अनोखी शक्ति का पूरे शरीर में संचार हो जाता है और तलवार चलाते समय किसी भी तरह का कोई डर महसूस नहीं होता है और मां शक्ति की उपासना में एक अनोखा आनंद मिलता है. आज के युग में जहा महिलाएं अगर महिलाओं को अपनी रक्षा के लिए तलवार भी चलानी पड़ी तो वह पीछे नहीं हटेंगी और इसी लिए राजपूत समाज की यह महिलाएं आज भी तलवार से उनकी आत्मरक्षा हो सकती है. राजपूत समाज अपनी परंपरा को कायम रखते हुए नारी शक्ति का भी सन्देश दे रहा है.