close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को नहीं लगाना होगा लाइन, शुरू हुआ ऑनलाइन पंजीकरण

राज्यपाल श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अध्यक्ष हैं जो कश्मीर घाटी के अनंतनाग जिले में अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा का प्रबंधन करता है.

अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को नहीं लगाना होगा लाइन, शुरू हुआ ऑनलाइन पंजीकरण
अमरनाथ तीर्थ यात्रा अनंतनाग में पहलगाम के रास्ते और गंदेरबाल में बालटाल के रास्ते शुरू होगी. (फाइल फोटो)

श्रीनगरः जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बुधवार को इस साल की अमरनाथ यात्रा को लेकर तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की शुरुआत की. यात्रा एक जुलाई से शुरू होगी. राज्यपाल श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अध्यक्ष हैं जो कश्मीर घाटी के अनंतनाग जिले में अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा का प्रबंधन करता है.

एसएएसबी ने एक बयान में कहा, "राज्यपाल ने यात्रियों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू किया है..पायलट आधार पर." बयान में कहा गया है, "ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा प्रतिदिन 500 इच्छुक तीर्थयात्रियों के लिए होगी. यह दोनों मार्गो पहलगाम से 250 यात्रियों और बालताल से 250 यात्रियों के लिए उपलब्ध होगी."

जिस गुफा में PM मोदी ने की थी साधना, उसकी ऑनलाइन बुकिंग हो गई शुरू, ये हैं FINAL रेट

इसमें कहा गया है कि एक नई पहल के रूप में श्राइन बोर्ड यात्रा परमिट फॉर्म (वाईपीएफ) के क्यूआर कोडिंग/ बार कोडिंग को पेश कर रहा है. क्यूआर कोड यात्री के डेटाबेस से जुड़ा हुआ है. क्यूआर कोड वाले वाईपीएफ को एक्सेस कंट्रोल गेट्स डोमेल और चंदनवारी और मध्यवर्ती शिविरों दोनों में स्कैन किया जाएगा. इससे यात्रियों की गिनती और वास्तविक समय के आधार पर उनकी ट्रैकिंग में मदद मिलेगी.