Remedies of Mars: कर्ज से मुक्ति पाने के लिए जरूर करें मंगलवार का ये महाउपाय

यदि कुंडली में मंगलदोष हो तो मंगलवार के दिन विशेष पूजा करने से इस दोष से मुक्ति मिलती है.

Remedies of Mars: कर्ज से मुक्ति पाने के लिए जरूर करें मंगलवार का ये महाउपाय
मंगल देवता.
Play

नई दिल्ली: मंगलवार दिन के स्वामी मंगल देवता माने गए हैं. पृथ्वी पुत्र मंगल को भगवान शिव का स्वरूप माना जाता है. मान्यता है कि भगवान शिव का अंश पृथ्वी पर गिरने से मंगल देवता का जन्म हुआ. मंगल देव की पूजा से विवाह, भूमि, संपत्ति, सेहत, धन आदि का सुख प्राप्त होता है. साधक के भीतर साहस, बल, का संचार होता है. मानव शरीर में मंगल का प्रभाव रक्त, मज्जा, यकृत, होंठ, पेट, छाती एवं बाजू पर होता है. मंगल के प्रभाव से जातक में बल, पराक्रम, अहंकार, क्रोध, आदि चीजें विकसित होती हैं. 

ज्योतिष में मंगल को ग्रहों का सेनापति माना गया है. यह शक्ति ऊर्जा और पराक्रम का स्वामी है. यह मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी है. मंगल मकर राशि में उच्च के और कर्क राशि में नीच के माने गए हैं. ज्योतिष के अनुसार मंगल को क्रूर ग्रह माना गया है. इसकी महादशा सात वर्ष की होती है. जिस व्यक्ति की कुंडली में मंगल कमजोर होता है, उसमें अक्सर साहस और पराक्रम का अभाव होता है. ऐसे में नीचे बताए गए उपायों को करने से विशेष लाभ होता है. यदि कुंडली में मंगलदोष हो तो मंगलवार के दिन विशेष पूजा करने से इस दोष से मुक्ति मिलती है. 

कैसे रखें मंगलवार का व्रत- 
मंगलवार का व्रत किस भी मास के शुक्लपक्ष से प्रारंभ करना चाहिए. मंगलवार के कम से कम 21 व्रत अवश्य करने चाहिए. मंगलवार के दिन प्रात: स्नान करके लाल वस्त्र धारण करें और उसके बाद मंगल की विधि-विधान से पूजा करके मंगल के तांत्रिक मंत्र का जाप करें. व्रत के दिन नमक का सेवन न करें. व्रत के अंतिम मंगलवार को हवन आदि करके किसी ब्राह्मण को मंगल से संबंधित वस्तुओं का दान करें.

मंगलवार व्रत का फल - 
मंगलवार का व्रत करने से मंगल ग्रह संबंधी दोष दूर होते हैं. दाम्पत्य जीवन में आ रही बाधाएं दूर होती हैं. कर्ज से मुक्ति और भू-संपत्ति आदि का सुख प्राप्त होता है.

ये भी पढ़ें- राशिफल 7 जुलाई: इन 6 राशि वालों को आज धैर्य रखने की है जरूरत, होगा लाभ

मंगल ग्रह का प्रार्थना मंत्र- 
'ॐ धरणीगर्भसंभूतं विद्युतकान्तिसमप्रभम।
कुमारं शक्तिहस्तं तं मंगलं प्रणमाम्यहम।।'

मंगल को मनाने का सबसे आसान एवं सरल उपाय इसका मंत्र जाप होता है. मंगल के मंत्र जाप से साधक को शुभ फलों की प्राप्ति होती है. मंगल के इस प्रार्थना मंत्र से मंगल देवता शीघ्र ही प्रसन्न होते हैं और उनकी कृपा से सभी दोष दूर होकर मनोकामनाएं पूरी होती हैं. 

मंगल ग्रह का जप मंत्र-
'ॐ  क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम:'

जप संख्या- 10,000
मंगल देवता का आशीर्वाद पाने के लिए मंगलवार के दिन उनके मंत्र की कम से कम एक माला जाप यानी 108 बार जाप जरूर करना चाहिए. 

मंगल ग्रह का दान- 
मंगल ग्रह की शुभता पाने के लिए मंगलवार के दिन विशेष रूप से गेहूं, गुड़, तांबा, मसूर, लाल चंदन, मूंगा आदि का दान करना चाहिए. 

मंगल ग्रह मूंगा धारण करने की विधि-
मंगल ग्रह की शुभता पाने और उससे जुड़े दोष को दूर करने के लिए मूंगा रत्न धारण किया जाता है. इसे हमेशा तांबे या सोने में जड़वाकर मंगलवार के दिन विधि-विधान से पूजन करके धारण किया जाता है. इसे दाहिने हाथ की अनामिका अंगुली में पहनना चाहिए. 

मंगल ग्रह के महाउपाय- 
किसी भी ग्रह को शुभता पाने या फिर कहें उसे बली बनाने के लिए कई उपाय किए जाते हैं. आइए जानते हैं कि मंगल देव की कृपा पाने के लिए किन सरल सहज उपायों को करने से शीघ्र लाभ होता है.

- मंगलवार के दिन लाल रंग के कपड़े पहनें. यदि संभव न हो सके तो जेब में लाल रंग का रुमाल अवश्य रखें. 
- कर्ज से मुक्ति पाने के लिए ऋण मोचन अंगारक स्तोत्र और सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें. 
- मंगल से संबंधित वस्तुओं का दान करें.
- मंगलदोष से मुक्ति पाने के लिए उज्जैन स्थित मंगलनाथ मंदिर में विशेष रूप से भातपूजा करवाएं.