close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कल है सावन का पहला सोमवार, इस शुभ मुहूर्त में बाबा भोलेनाथ को अर्पित करें जल

सावन के महीने की शुरुआत हो चुकी है और सावन के पहले सोमवार का व्रत 22 जुलाई को रखा जाएगा. पौराणिक मान्यता है कि सावन के पहले सोमवार को विधिवत और शुभ समय पर बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित किया जाए तो वह प्रसन्न होकर अपने भक्तों को धन-धान्य का आशीर्वात देते हैं. 

कल है सावन का पहला सोमवार, इस शुभ मुहूर्त में बाबा भोलेनाथ को अर्पित करें जल
सावन के सोमवार को सुबह 7 बजे से 9 बजे तक बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित करने का शुभ समय है.

नई दिल्ली : सावन के महीने की शुरुआत हो चुकी है और सावन के पहले सोमवार का व्रत 22 जुलाई को रखा जाएगा. पौराणिक मान्यता है कि सावन के पहले सोमवार को विधिवत और शुभ समय पर बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित किया जाए तो वह प्रसन्न होकर अपने भक्तों को धन-धान्य का आशीर्वात देते हैं. 

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, इस बार सावन का पहला सोमवार ऐसे मुहूर्त में शुरू हो रहा है, जिसमें व्रत रखने से संतान सुख, धन, निरोगी काया और मनोवांछित जीवन साथी प्राप्त होता है, साथ ही दाम्पत्य जीवन के दोष और अकाल मृत्यु जैसे संकट दूर हो जाते हैं. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, सावन के सोमवार को सुबह 7 बजे से 9 बजे तक बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित करने का शुभ समय है. इस शुभ मुहूर्त में उन सभी लोगों को जल अर्पित करना चाहिए, जो आर्थिक परेशानियों का सामना कर रहे हैं. 

सावन में चार सोमवार
इस बार सावन में चार सोमवार पड़ रहे हैं, जिसे शुभ माना जा रहा है. इस बार शिवरात्रि भी 30 जुलाई को है, यानी कि दूसरे सोमवार के अगले दिन मंगलवार को. सावन में मंगलवार का दिन माता गौरी को समर्पित होता है, इसलिए इस दिन मंगला गौरी व्रत किया जाता है. मंगला गौरी व्रत के दिन शिवरात्रि का पड़ना भी अपने आप में विशेष है.

22 जुलाई: सावन का पहला सोमवार.

29 जुलाई: सावन का दूसरा सोमवार.

05 अगस्त: सावन का तीसरा सोमवार.

12 अगस्त: सावन का चौथा सोमवार.

30 जुलाई: शिवरात्रि