close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: Sawan 2019; सावन का पहला सोमवार आज, घर बैठे कीजिए बाबा महाकाल की आरती के दर्शन

सोमवार तड़के सुबह तीन बजे भगवान महाकालेश्वर का दूध-दही से अभिषेक किया गया, जिसके बाद विधि-विधान से पंडे-पूजारियों ने महाकाल की भस्म आरती की. खास बात है कि आज डेढ़ घंटे पहले ही महाकाल की आरती की गई. ऐसी मान्यता है कि जिस किसी के ऊपर बाबा महाकाल का हाथ होता है उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता है.

VIDEO: Sawan 2019; सावन का पहला सोमवार आज, घर बैठे कीजिए बाबा महाकाल की आरती के दर्शन
Sawan 2019: पहले सोमवार को बाबा महाकाल की विशेष आरती हुई.

उज्जैन: आज सावन का पहला सोमवार है. इस मौके पर देशभर के शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भीड़ जुटी हुई है. 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में भी भक्तों का सैलाब उमड़ा हुआ है. सुबह की भस्म आरती के बाद बाबा महाकाल की सुबह की आरती हुई. वहां मौजूद शिव भक्तों ने तो इसका आनंद लिया. देश-दुनिया में रह रहे लोग इस वीडियो में इस पावन आरती का आनंद लें.

सोमवार तड़के सुबह तीन बजे भगवान महाकालेश्वर का दूध-दही से अभिषेक किया गया, जिसके बाद विधि-विधान से पंडे-पूजारियों ने महाकाल की भस्म आरती की. खास बात है कि आज डेढ़ घंटे पहले ही महाकाल की आरती की गई. ऐसी मान्यता है कि जिस किसी के ऊपर बाबा महाकाल का हाथ होता है उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता है.

इसके अलावा वाराणसी में भी बाबा विश्वनाथ के मंदिर में भी भारी भीड़ देखी गई. सुबह से ही भक्तों की भारी भीड़ देखी गई. भगवान शंकर को जल चढ़ाने के लिए लंबी लाइन लगी दिखी.

उधर, झारखंड स्थित प्रसिद्ध तीर्थस्थल बैद्यनाथ धाम में भी भक्तों का हुजुम दिखा. यहां भगवान शंकर के द्वादश ज्योर्तिलिंगों में नौवां ज्योतिर्लिंग है. यह ज्योतिर्लिंग सभी ज्योतिर्लिगों में सर्वाधिक महिमामंडित माना जाता है. ऐसे तो यहां प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु आते हैं, परंतु भगवान शिव के सबसे प्रिय महीने सावन में यहां उनके भक्तों का हुजूम उमड़ पड़ता है.

सावन महीने में प्रतिदिन यहां करीब एक लाख भक्त आकर ज्योतिर्लिग पर जलाभिषेक करते हैं. इनकी संख्या सोमवार के दिन और बढ़ जाती है.

शिवभक्त सुल्तानगंज से उत्तर वाहिनी गंगा से जलभर कर 105 किलोमीटर की पैदल यात्रा कर यहां पहुंचते हैं और भगवान का जलाभिषक करते हैं.

लाइव टीवी देखें-: