शिरडी के साईं बाबा मंदिर पर पड़ा कोरोना का असर, हुआ करोड़ों का नुकसान

कोविड-19 (COVID-19) को देखते हुए सभी राज्यों ने अलग नियम बनाए हुए हैं. इसके तहत कहीं के धार्मिक स्थल खोल दिए गए हैं तो कहीं के अभी तक बंद हैं. शिरडी के साईं बाबा मंदिर (Sai Baba Mandir) को करोड़ों का नुकसान हुआ है.

शिरडी के साईं बाबा मंदिर पर पड़ा कोरोना का असर, हुआ करोड़ों का नुकसान
साईं बाबा मंदिर, शिरडी

प्रशांत शर्मा.शिरडी: कोरोना वायरस (Coronavirus) के मद्देनजर मार्च से ही देश के सभी छोटे-बड़े मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए थे. कोविड-19 (COVID-19) को देखते हुए अलग-अलग राज्यों ने अपने यहां के नियम भी अलग बनाए हुए हैं. इसके तहत कहीं के धार्मिक स्थल खोल दिए गए हैं तो कहीं के अभी तक बंद हैं. जहां कपाट खोल दिए गए हैं, वहां भी फिलहाल भक्तों के आने की मनाही है. कुछ ऐसा ही हाल शिरडी (Shirdi) के साईं बाबा मंदिर (Sai Baba Mandir) का भी है.

मंदिरों को हो रहा नुकसान
ज्यादातर मंदिरों में वहां आने वाले भक्तों द्वारा चढ़ाए गए चढ़ावे से ही काम चलता है. वहां के बिजली-पानी-राशन आदि खर्च को उसी चढ़ावे से पूरा किया जाता है. हालांकि, कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन (Lockdown) व राज्यों के अपने नियमों के कारण देश के सभी धार्मिक स्थल मार्च से ही बंद हैं. इस वजह से मार्च से मंदिरों की आमदनी भी बंद है. महाराष्ट्र (Maharashtra) स्थित शिरडी में बना साईं बाबा का मंदिर देश के सबसे प्रसिद्ध और मान्यता प्राप्त मंदिरों में से एक है. कोरोना के कारण शिरडी के साईं बाबा का मंदिर 17 मार्च से बंद है.

यह भी पढ़ें- बच्चों की लंबी उम्र और संपन्नता के लिए रखा जाता है जीवित्पुत्रिका व्रत, जानिए पूजन विधि और महत्व

साईं बाबा मंदिर को करोड़ों का नुकसान
साल 2020 की बात करें तो 17 मार्च से 31 अगस्त के बीच साईं मंदिर को सिर्फ 115 करोड़ रुपये प्राप्त हुए. इस साल दान की ज्यादातर रकम ऑनलाइन (Online) माध्यम से ही हासिल हुई है. पिछले साल मंदिर को इसी दौरान 289 करोड़ रुपये का चढ़ावा प्राप्त हुआ था.

2020 में मिला इतना दान
लॉकडाउन में साईं बाबा मंदिर (Sai Baba Temple) को मिले दान की बात करें तो इस दौरान सब से ज्यादा फिक्स डिपॉजिट्स का ब्याज 94 लाख 39 लाख रुपये है. वहीं ऑनलाइन मोड के जरिए 11 करोड़ 47 लाख रुपये का चढ़ावा प्राप्त हुआ है. पिछले साल इसी पीरियड में ऑनलाइन डोनेशन के माध्यम से 1 करोड़ 89 लाख रुपये प्राप्त हुए थे. इस साल कपाट बंद होने की वजह से ऑनलाइन चढ़ावे में वृद्धि हुई है. पिछले साल 17 मार्च से 31 अगस्त 2019 तक 75 करोड़ से ज्यादा चढ़ावा आया था.

यह भी पढ़ें- मलमास में किन तिथियों में कर सकते हैं खरीदारी और शुभ कार्य, जानिए यहां

करोड़ों का है खर्च भी
आज के समय में साईं मंदिर ट्रस्ट का प्रतिमाह खर्च 55 करोड़ रुपये तक है. इसमें दो अस्पताल, शिक्षा संस्था, बिजली का बिल और 6000 कर्मियों का प्रतिमाह वेतन (13 करोड़ का खर्च) शामिल है.

धर्म संबंधी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.