कई सालों बाद कृष्ण जन्माष्टमी के दिन बन रहा है ये खास संयोग, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त
Advertisement
trendingNow1565263

कई सालों बाद कृष्ण जन्माष्टमी के दिन बन रहा है ये खास संयोग, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त

कई वर्षों बाद जन्माष्टमी का त्योहार पर कई सारे शुभ संयोग बन रहे हैं. इस दिन श्रीकृष्ण की पूजा करने से संतान प्राप्ति, आयु तथा समृद्धि की प्राप्ति होती है. 

कई सालों बाद कृष्ण जन्माष्टमी के दिन बन रहा है ये खास संयोग, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली : हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार जन्माष्टमी इस बार 23 अगस्त को मनाया जाएगा. जन्माष्टमी का त्योहार भादो माह की अष्टमी को मनाया जाता है. हिन्‍दू पंचांग के अनुसार कृष्ण जन्माष्टमी भद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि यानी कि आठवें दिन मनाई जाती है. कई वर्षों बाद जन्माष्टमी का त्योहार पर कई सारे शुभ संयोग बन रहे हैं. इस दिन श्रीकृष्ण की पूजा करने से संतान प्राप्ति, आयु तथा समृद्धि की प्राप्ति होती है. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाकर व्यक्ति अपनी हर मनोकामना पूरी कर सकता है. जिन लोगों का चंद्रमा कमजोर हो वो आज पूजा करके विशेष लाभ पा सकते हैं.

जन्‍माष्‍टमी का शुभ मुहूर्त 
जन्‍माष्‍टमी की तिथि: 23 अगस्‍त और 24 अगस्‍त.
अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 23 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 09 मिनट से.
अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 24 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक.

जन्माष्टमी पर ऐसे करें पूजन 
सुबह सभी देवताओं को नमस्कार कर पूर्व या उत्तर मुख बैठें. व्रत के दिन सुबह स्नानादि नित्यकर्मों से निवृत्त हो जाएं. इसके बाद जल, फल, कुश और गंध लेकर संकल्प करें-  
ममखिलपापप्रशमनपूर्वक सर्वाभीष्ट सिद्धये श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रतमहं करिष्ये॥ 

शाम के समय काले तिलों के जल से स्नान कर देवकीजी के लिए 'सूतिकागृह' नियत करें. इसके बाद भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति या चित्र स्थापित करें. मूर्ति में बालक श्रीकृष्ण को स्तनपान कराती हुई देवकी हों और लक्ष्मीजी उनके चरण स्पर्श किए हों अगर ऐसा चित्र मिल जाए तो बेहतर रहता है. इसके बाद विधि-विधान से पूजन करें. 

Trending news