Vastu Tips For Mirror: भूलकर भी घर में कभी ऐसे ना लगाएं आईना, हो सकता है नुकसान

गलत दिशा में लगा दर्पण घर में रहने वालों पर तमाम तरह की परेशानियां लेकर आता है.

Vastu Tips For Mirror: भूलकर भी घर में कभी ऐसे ना लगाएं आईना, हो सकता है नुकसान
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: हर घर के किसी कोने में आईना जरूर होता है. सूरत को निहारने से लेकर श्रृंगार तक के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले इस दर्पण का संबंध आपके सौभाग्य से भी होता है. दर्पण यदि सही दिशा में लगा हो तो व्यक्ति को उसके सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं, जबकि गलत दिशा में लगा दर्पण घर में रहने वालों पर तमाम तरह की परेशानियां लेकर आता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में लगाए जाने वाले आईने से भी एक प्रकार की ऊर्जा का संचार होता है. ऐसे में उसकी दिशा और स्थिति पर तय करता है कि वह शुभता या अशुभता प्रदान कर रहा है. ऐसे में अपनी जब कभी भी अपने घर में अपनी पसंद का आईना लगवाने चलें तो उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें. 

किस दिशा में लगवाएं दर्पण-

- वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के लिए चौकोर और आयताकार दर्पण शुभ होते हैं. 

- बाथरूम में हमेशा पूर्व या उत्तर की दिशा में शीशा लगवाना चाहिए. 

- दर्पण लगवाते समय हमेशा इस बात का ख्याल रखें कि उसमें हमेशा शुभ चीजें ही दिखाई दें. 

- वास्तु के अनुसार प्रत्येक स्थान पर दर्पण लगाने की एक दिशा निर्धारित की गई है. हालांकि सामान्य रूप से घर की उत्तर, पूर्व या पूर्वोत्तर दिशा में दर्पण लगवाना अत्यंत शुभ माना गया है. इस दिशा में दर्पण के होने से घर में सुख-समृद्धि का वास बना रहता है. 

- दुकान में कैश बॉक्स, बिलिंग मशीन, रजिस्टर, बही-खाते के सामने दर्पण लगाने से विशेष लाभ होता है. इस उपाय को करने से कारोबार में संपन्नता आती है. 

- उत्तर पूर्व की दीवार पर लगा दर्पण नई योजनाओं के द्वारा खोलने का काम करता है. 

ये भी पढ़ें- राशिफल 7 जुलाई: इन 6 राशि वालों को आज धैर्य रखने की है जरूरत, होगा लाभ

इन बातों का रखें ध्यान-

- बेडरूप में शीशा लगाने से बचना चाहिए. यदि लगाना ही पड़े तो शीशा लगवाते समय हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि उसमें आपका बेड नहीं दिखाई दे. वास्तु के अनुसार यदि शीशे में बेड दिखाई देता है तो दांपत्य जीवन में मुश्किलें आ सकती हैं. ऐसी स्थिति में शीशे को किसी परदे से ढक कर रखना चाहिए. 

- कभी भी आईने को खिड़की या दरवाजे की ओर करके न लगाएं. 

- कभी भी घर की दीवारों पर आमने-सामने दर्पण न लगवाएं. 

- घर में भूलकर भी नुकीले या तेजधार वाले दर्पण नहीं लगवाने चाहिए. 

- घर में कभी भी टूटे हुए दर्पण का प्रयोग करें न ही उसे घर के किसी कोने में रखें. 

- कभी भूलकर भी दक्षिण, पश्चिम, आग्नेय, वायव्य एवं नैऋत्य दिशा में आईना लगवाएं. 

- दीवार पर दर्पण न तो ज्यादा नीचे और न ही अधिक ऊपर होना चाहिए. 

- रसोईघर में कभी भी दर्पण न लगवाएं.

- घर में अंडाकार और गोलाकार दर्पण लगवाने से बचना चाहिए.