अमीर कुत्ते, गरीब कुत्ते

By Lalit Fulara | Last Updated: Thursday, May 7, 2015 - 18:33
अमीर कुत्ते, गरीब कुत्ते

ललित फुलारा

रोड ग़रीब क्या, अमीर के बाप की भी नहीं है। भारत का दुर्भाग्य है कि आज भी यहां फुटपाथों पर म़जलूमों की जमात सोती है। यह वह जमात है- जिससे 'अभिजीत' जैसे अभिजात वर्ग के लोग खार खाते हैं और शीशे के महलों में बैठकर इन्हें कुत्ता ही समझते हैं। महान इंकलाबी शायर फैज़ ने बहुत पहले ही चेता दिया था कि जिस दिन इन कुत्तों की सोई हुई दुम को हिला दिया जाएगा तो ये अपने आकाओं की हड्डियां चबा लेंगे और उनके शीशे के महल ढेर हो जाएंगे।

शायद अभिजीत को अभी इन 'कुत्तों' की औकात नहीं पता है। ये अपनी औकात में आ जाए तो पैसा, पावर और पॉलिटिक्स सारी चीज़ें धरी की धरी रह जाएंगी। बॉलीवुड ने सलमान के प्रति सहानुभूति की लहर चला कर उन्हें देवतातुल्य साबित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। सलमान अगर अपनी कमाई का 80 फीसदी समाजसेवा में देते हैं तो इससे उन्हें फुटपाथ पर किसी को कुचलने का लाइसेंस नहीं मिल जाता। कानून की नज़र में 'कुत्ता' और सलमान बराबर हैसियत रखते हैं। हालांकि, माना की सुपर रिच कल्चर ने न्याय प्रणाली को थोड़ा प्रभावित जरूर किया है। सेलिब्रिटी होने का फायदा सलमान को मिल रहा है। कल से हर जुंबा पर सलमान है जबकि मारे गए व्यक्ति के परिवार की सुध लेने वाला कोई नहीं है।

अभिजीत के ट्वीट ने 'असंवेदनशीलता' की सारी हदें पार कर दी हैं। एक 'कलाकार' को समाज हमेशा संवेदनशील दृष्टि से देखता है। 'कलाकार' के लिए सुनने में आता है कि वह बेहद भावुक प्राणी होता है। अभिजीत की सोच ने कला और कलाकार दोनों को असामयिक ही मार दिया है। कला अगर कला के लिए होती तो अभिजीत जैसे लोगों की समझ में आता कि 'मानवता' क्या चीज़ है। कला के बाजारीकरण ने इंसानी संवेदनाओं को तो मारा ही, साथ ही में  भावनाओं को भी बिकाऊ बना दिया है। 

अभिजीत को शायद सड़क और फुटपाथ के बीच का फर्क नहीं पता है। अगर पता होता तो वो ऐसा बहूदा ट्वीट नहीं करते। सलमान खान की सजा ने अभिजीत को इतना उद्वेलित कर दिया कि वो अपना आपा खो बैठे और फुटपाथ पर सोने वालों को कुत्ता कह दिया। शायद अभिजीत यह नहीं जानते हैं कि कोई भी इंसान शौक से सड़क पर नहीं सोता है। उन्हें अपनी घिनौनी सोच पर शर्म आनी चाहिए। 

एक्सक्लूसिव

116494177177165543003


comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.