टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 35 रन से हराया, सीरीज 2-2 से बराबर

Last Updated: Thursday, October 22, 2015 - 22:25
टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 35 रन से हराया, सीरीज 2-2 से बराबर

चेन्नई : विराट कोहली ने पिछले आठ महीने से वनडे में शतक का इंतजार समाप्त करते हुए गुरुवार को शानदार शतकीय पारी खेली जिससे भारत ने एबी डिविलियर्स के सेंचुरी के बावजूद दक्षिण अफ्रीका को चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 35 रन से हराकर देशवासियों को विजय पर्व पर जीत का तोहफा दिया। 

कोहली ने 140 गेंदों पर छह चौकों और पांच छक्कों की मदद से 138 रन बनाये। उन्होंने अजिंक्य रहाणे (45) के साथ के तीसरे विकेट के लिये 104 रन की साझेदारी की और बाद में सुरेश रैना (53) के साथ चौथे विकेट के लिये 127 रन जोड़े जिससे टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरने वाला भारत आठ विकेट पर 299 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रहा।

डिविलियर्स ने कोहली के प्रयास पर पानी फेरने के लिये अपनी तरफ से हरसंभव प्रयास किया। उन्होंने 107 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 112 रन बनाये लेकिन उनके साथी बल्लेबाज भारत के तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण के सामने नहीं चल पाये। दक्षिण अफ्रीका आखिर में नौ विकेट पर 264 रन तक ही पहुंच पाया। भारत ने इस तरह से पांच मैचों की श्रृंखला 2-2 से बराबर कर दी। 

दोनों टीमों के बीच पांचवां और अंतिम वनडे 25 अक्तूबर को मुंबई में खेला जाएगा। कोहली ने इससे पहले वनडे में अपना आखिरी शतक फरवरी में विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ एडिलेड में बनाया था। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह उनका पहला शतक जिससे वह वनडे में टेस्ट खेलने वाले सभी देशों के खिलाफ शतक जड़ने वाले पांचवें बल्लेबाज भी बन गये। 

डिविलियर्स और कोहली दोनों ने छक्के से अपने शतक पूरे किये। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से डेल स्टेन (61 रन देकर तीन विकेट) और कैगिसो रबादा (54 रन देकर तीन विकेट) ने तीन तीन विकेट लिये। भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने 68 रन देकर तीन और हरभजन सिंह ने 50 रन देकर दो विकेट लिये।

भारत के खिलाफ पिछले चार वनडे में अर्धशतक जड़ने वाले फाफ डु प्लेसिस (17) दायीं कोहनी पर डिविलियर्स का करारा शाट झेलना पड़ा। इसके तुरंत बाद उन्होंने अक्षर पटेल की गेंद पर धोनी को कैच थमा दिया। हरभजन ने नये बल्लेबाज डेविड मिलर (छह) को पगबाधा आउट करके स्कोर चार विकेट पर 88 रन कर दिया। इससे रन गति धीमी पड़ गयी। 

डिविलियर्स और फरहान बेहारडीन (22) ने पांचवें विकेट के लिये 56 रन की साझेदारी की लेकिन इसके लिये उन्होंने 13.5 ओवर खेले। अमित मिश्रा ने बेहारडीन को पगबाधा आउट करके यह साझेदारी तोड़ी। डिविलियर्स इसके बाद आक्रामक हो गये। उन्होंने भुवनेश्वर पर लगातार तीन चौके जड़कर 67 गेंदों पर अपने 50 रन पूरे किये। लेकिन चोटिल जेपी डुमिनी की जगह टीम में लिये गये क्रिस मौरिस (नौ) को रहाणे ने सीधे थ्रो पर रन आउट करके दक्षिण अफ्रीका पर दबाव बढ़ा दिया। 

ऐसी परिस्थिति में डिविलियर्स ने मिश्रा की गेंद पर छक्का लगाकर अपना 22वां वनडे शतक पूरा किया। वह दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सर्वाधिक शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गये हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने यहां पर भुवनेश्वर को गेंद थमायी जिन्होंने डिविलियर्स को शार्ट पिच गेंद पर विकेट के पीछे कैच कराया और फिर आरोन फैंगिसो (20) और स्टेन (छह) को आउट करके भारत की जीत पक्की की।

भारत ने पहले दस ओवर में दो विकेट खोकर केवल 43 रन बनाये लेकिन इसके बाद कोहली और रहाणे ने तेजी दिखायी जिससे भारत 19वें ओवर में 100 रन का आंकड़ा पार कर गया। इन दोनों में कोहली ने अधिक दबदबे के साथ बल्लेबाजी की। स्टेन ने रहाणे को डिकाक के हाथों कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी। 

भारतीय टेस्ट कप्तान ने 38वें ओवर में आरोन फैंगिसो पर लांग आन क्षेत्र में छक्का जड़कर अपना 23वां वनडे शतक पूरा किया। कोहली ने इसके लिये 112 गेंदों का सामना किया तथा चार चौके और तीन छक्के लगाये। रैना ने 52 गेंदों पर 53 रन बनाकर फार्म में वापसी की। उन्होंने स्टेन की गेंद पर आउट होने से पहले अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्का लगाया। रैना ने लंबा शाट खेलने के प्रयास में मिडविकेट पर डिविलियर्स को कैच थमाया। 

डेथ ओवरों में तेजी से रन बनाने के प्रयास में कोहली और हरभजन (शून्य) दोनों रबादा की लगातार गेंदों पर आउट हुए। कप्तान धोनी (15) ने भी आखिरी ओवर में अपना विकेट गंवाया। उन्होंने स्टेन की शार्ट पिच गेंद को उठाकर मारने के प्रयास में मिड आफ पर डिविलियर्स को कैच दे दिया। भारतीय टीम डेथ ओवरों में तेजी से रन बनाने में नाकाम रही। उसने आखिरी पांच ओवरों में केवल 29 रन बनाये और इस बीच चार विकेट गंवाये।

भाषा



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.