नाकाम हुई साजिशः दिल्ली मेट्रो में पकड़े गए जिंदा कारतूस

By Pritesh Gupta | Last Updated: Sunday, January 18, 2015 - 20:08
नाकाम हुई साजिशः दिल्ली मेट्रो में पकड़े गए जिंदा कारतूस

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस से पहले राजधानी में एक आतंकी हमले की साजिश नाकाम कर दी गई। 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आज रेड लाइन स्थित वेलकम मेट्रो स्टेशन से तीन संदिग्ध व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने इनके पास से 1020 जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। गिरफ्तार लोगों में मोहम्मद शारिक, फहीम और इमरान शामिल हैं। 

गणतंत्र दिवस के मौके पर बतौर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा मुख्य अतिथि होंगे। ओबामा 25 जनवरी को नई दिल्ली पहुंचेंगे और 27 तक भारत में ही रहेंगे। उनके लिए सात स्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। यही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जिन रास्तों से होकर गुजरेंगे, उन रास्तों पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस और सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

गणतंत्र दिवस के लिए राजपथ पर बनी VVIP दीर्घा के आसपास सात चरणों वाली सुरक्षा व्यवस्था की गई है जहां से अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भारतीय गणतंत्र के महापर्व पर भव्य परेड का दीदार करेंगे। राजपथ के फ्लाइंग जोन की निगरानी के लिए खासतौर पर एक रडार लगाया जाएगा।

राष्ट्रीय राजधानी में जमीन से लेकर हवाई क्षेत्र सभी के लिए अभूतपूर्व सुरक्षा के प्रबंध किए जा रहे हैं। इसके लिए 26 जनवरी को दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था की ऐसी अभेद्य किलेबंदी की जा रही है जहां परिंदा भी पर नहीं मार सके।

इसके लिए राष्ट्रीय राजधानी के सभी क्षेत्रों की निगरानी व्यवस्था पर नजर रखने के लिए एक मल्टी एजेंसी कंट्रोल रूम स्थापित किया जा रहा है। सुरक्षा के मद्देनजर इसे उच्चतम सतर्कता पर रखा जा रहा है।

सिक्योरिटी टीम में शामिल अधिकारियों ने बताया कि गणतंत्र दिवस पर इस महत्वपूर्ण समारोह के संबंध में खतरे की सर्वाधिक आशंका को मानते हुए सुरक्षा तैयारियों में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है हालांकि आतंकी हमले की संभावना के बारे में कोई खास खुफिया संकेत नहीं है। अमेरिका के खुफिया सेवा के अधिकारी दिल्ली और आगरा पहुंच गए हैं और उन्होंने उन रास्तों का प्रारंभिक सर्वेक्षण किया जहां से अमेरिकी राष्ट्रपति को ले जाया जाएगा। इसमें राजपथ भी शामिल है जहां ओबामा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ बैठेंगे और विभिन्न गणमान्य लोगों के साथ यहां भव्य परेड का निरीक्षण करेंगे।

ऐसी संभावना है कि इस अवसर पर पहली बार मुख्य अतिथि सलामी मंच पर अकेले आएं। हालांकि इस मौके पर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति के साथ ही उनकी बुलेट प्रूफ लिमोज़ीन में आते रहे हैं। अगर ओबामा राष्ट्रपति के साथ आते हैं तब संभवत: पहली बार ऐसा मौका होगा जब अमेरिकी राष्ट्रपति अपने अत्यधिक सुरक्षा वाले वाहन ‘बीस्ट’ के बजाय दूसरे वाहन से किसी कार्यक्रम स्थल पर जाएं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वीवीआईपी दीर्घा के आस-पास सात घेरों वाली सुरक्षा व्यवस्था होगी जिसमें स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप, सुरक्षा सेवा के कर्मी शामिल होंगे।

एजेंसी

114076112497191514508


comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.