दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना आवश्यक: मोदी

By Lalit Fulara | Last Updated: Sunday, February 1, 2015 - 18:36
दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना आवश्यक: मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को द्वारका सेक्टर-14 से चुनावी रैली को संबोधित किया। मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आंदोलन करने वाली नहीं विकास करने वाली सरकार की जरूरत है। मोदी ने कहा, आज राजनीति में वादा करके भुला देना आदत बन गई है। मोदी ने कहा कि वह असली  द्वारका वाले हैं। हालांकि, अब दिल्लीवासी हो गए हैं।

मोदी ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की तरफ इशारे करते हुए कहा कि दिल्ली में नारेबाजी और वादे करने वाले दो दल उनके खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। ये दो दल सरकार बनाने के लिए पर्दे के पीछे सौदा करते हैं। जनता को धोखा देकर पर्दे के पीछे सरकार बनाई जाती है। उन्होंने कहा आजकल इन दोनों दलों में झूठ बोलने और मीडिया में जगह बनाने के लिए सनसनी फैलाने की प्रतिस्पर्धा चल रही है। ये दल बीजेपी पर झूठे आरोप लगाते हैं।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में झूठ का सहारा लिया जा रहा है। केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता को मुर्ख बनाया है। उन्होंने कहा कि सरकार चलाने के लिए पसीना बहान पड़ता है। मोदी ने कहा कि भागने से काम नहीं चलता है।  दिल्ली को जिम्मेवार और संवेदनशील सरकार की आवश्यकता है। मोदी ने कहा कि वह दिल्ली से पूर्णबहुमत की सरकार बनाने का अनुरोध करने आए हैं। मोदी ने कहा कि दिल्ली में दिन रात आंदोलन करने वाली सरकारे बनाओगे तो उन्हें बातचीत में रुचि नहीं होगी। वह सिर्फ टीवी में जगह पाएंगे। सरकार टीवी में जगह बनाने के लिए जनता को कठिनाईयों से मुक्ति दिलाने के लिए बनाई जाती है।

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम कम किए। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार आने से लोगों की जनता की जेब में पैसा बचने लगा है। उन्होंने कहा कि अगर नसीब से पेट्रोल के दाम कम होते हैं तो बदनसीब को लाने की जरूरत क्या है। मोदी ने कहा कि लोकसभा का चुनाव लड़ने के दौरान उनका मखौल बनाया जाता था। मेरे विरोधी कहते थे कि  मोदी को दुनिया में कौन पहचानता है। मोदी को विदेश नीति के बारे में नहीं पता है।

उन्होंने कहा कि जिसे देश की नीति मालूम होती है उसके लिए विदेश नीति में दिक्कत नहीं होती। मोदी ने कहा कि जब वो देश से बाहर जाते हैं तो मोदी के नाम से नहीं मिलते बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासी के प्रतिनिधि के तौर पर मिलते हैं। उन्होंने कहा कि जिस देश के पास 65 प्रतिशत लोग 35 वर्ष से कम आयु के हो तो उस देश के पास कितनी ताकत होगी।  दुनिया में हिंदुस्तान तेजी से जवान हो रहा है। शक्तिशाली युवा देश के रूप में उभर के आया है। मोदी ने कहा कि देश और देश के लोगों को जानना उनकी ताकत है। मोदी ने कहा मेरे पास किताबी ज्ञान नहीं है।

दिल्ली को नई ऊंचाईयों पर ले जाना चाहता हूं। दिल्ली लघु भारत है। मेरा सौभाग्य है पूर्वांचल का व्यक्ति प्रधानमंत्री बना है। अगर हमें भारता का भाग्य बदलना है तो संतुलन विकास करना है। किसी एक इलाके में विकास होने से देश का विकास नहीं होता है। मोदी ने कहा कि विकास सर्वसमावेश और सर्वस्पर्शी होता है। उन्होंने कहा कि हमारे हर दुख और सपने को पूरा करने की एक ही जड़ी बूटी है उसका नाम विकास है। मोदी ने कहा कि विकास से रोजगार मिलता है और जीवन में बदलाव आता है। 

मोदी ने कहा कि बैंकों के राष्ट्रीकरण हुए 40 साल हो गए लेकिन गरीबी नहीं हटी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार आने से पहले गरीब की बैंक जाकर खाता खोलने की हिम्मत नहीं होती थी। उन्होंने कहा कि दिल्ली के अनअथोराइज कॉलोनी में सुविधा देना उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है। मोदी ने कहा कि झोपड़ी की जगह पक्का मकान होना चाहिए। मकान में पानी और बिजली होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शासन चलाना गंभीर जिम्मेदारी। एक वक्त था मध्य प्रदेश बीमारी राज्य कहा जाता था, शिवराज सरकार के नेतृत्व मेें बीमारी राज्य से समृद्ध राज्य बन गया।.

उन्होंने कहा दिल्ली को पूर्णबहुमत की सरकार की आवश्यकता है तभी दिल्ली का विकास हो सकता है। दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाना आवश्यक है। मोदी ने लोगों से किरण बेदी के नेतृत्व वाली बीजेपी को दिल्ली में पूर्णबहुमत की सरकार देने का आश्वसान किया।

 

 

 

 

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

116494177177165543003


comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.