जोकोविच ने बचाया विंबलडन खिताब, फेडरर का टूटा सपना

Last Updated: Monday, July 13, 2015 - 09:07
जोकोविच ने बचाया विंबलडन खिताब, फेडरर का टूटा सपना

लंदन: वर्ल्ड नंबर वन टेनिस प्लेयर नोवाक जोकोविच ने एक बार फिर से रोजर फेडरर का आठवां खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया। रविवार को चार सेट तक चले मुकाबले में 7-6, 6-7, 6-4, 6-3 से जीत दर्ज करके विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष एकल का खिताब अपने नाम बरकरार रखा। सर्बिया के जोकोविच ने पहले दो सेट में कड़ी चुनौती मिलने के बाद दो घंटे 56 मिनट में यह मैच अपने नाम किया। यह उनका तीसरा विंबलडन खिताब है।

उन्होंने इससे पहले 2011 में राफेल नडाल और 2014 में फेडरर को हराकर खिताब जीता था। इस तरह से वह तीन बार विंबलडन खिताब जीतकर जान मैकनरो और बोरिस बेकर जैसे खिलाड़ियों की श्रेणी में शामिल हो गये हैं। जोकोविच का यह कुल नौवां ग्रैंडस्लैम खिताब है। स्विट्जरलैंड के 33 वर्षीय फेडरर को लगातार दूसरे साल खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा जिससे उनका आठवीं बार विंबलडन जीतकर इतिहास रचने का सपना भी चकनाचूर हो गया। सत्रह बार के ग्रैंडस्लैम विजेता और यहां दूसरी वरीयता प्राप्त फेडरर ने पिछले तीन साल से कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीता है। उनका ओपन युग में सबसे उम्रदराज विंबलडन विजेता बनने का सपना भी आज पूरा नहीं हो पाया।

फेडरर जब 6-5 से बढ़त पर थे तब उनके पास दो बार सेट अपने नाम करने का अवसर था लेकिन जोकोविच फिर से वापसी करके इसे टाईब्रेकर में ले गये जिसमें उन्होंने शुरू से ही बढ़त हासिल करके 7-1 की जीत से पहला सेट अपने नाम किया। दूसरे सेट में मुकाबला और रोचक और कड़ा हो गया। दोनों खिलाड़ियों ने एक दूसरे को बराबरी की टक्कर देकर सेंटर कोर्ट पर मौजूद दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस सेट में जब स्कोर 2-2 से बराबरी पर था तब फेडरर के पास ब्रेक प्वाइंट का मौका था लेकिन जोकोविच ने ऐसा खेल दिखाया मानो यह मैच प्वाइंट हो। इसके बाद फेडरर ने महत्वपूर्ण मौकों पर अपने अनुभव और कौशल का अद्भुत नजारा पेश किया।

उन्होंने ऐसे अवसरों पर आक्रामक खेल दिखाया। जोकोविच जब 5-4 के स्कोर पर सेट प्वाइंट पर थे तब उन्होंने इसे बचाया। यह सेट भी टाईब्रेकर तक पहुंचा जिसे फेडरर ने कुल सात सेट प्वाइंट बचाकर 12-10 से अपने नाम किया। फेडरर ने दूसरे सेट प्वाइंट पर यह सेट जीतकर मैच 1-1 से बराबर कर दिया।

फेडरर पर वापसी का दबाव था लेकिन जोकोविच हावी हो चुके थे। उन्होंने सात बार के चैंपियन को कोई मौका नहीं दिया। इस बीच चौथे सेट के पांचवें गेम में फेडरर का बैकहैंड नेट से टकरा गया जिससे जोकोविच को ब्रेक प्वाइंट का मौका मिल गया और उन्होंने इसे हासिल करने में कोई गलती भी नहीं की। जोकोविच ने अपनी सर्विस बचाये रखी और 4-2 से बढ़त हासिल करने के बाद सातवें गेम में भी वह फेडरर की सर्विस तोड़ने की स्थिति में पहुंच गये थे लेकिन स्विस स्टार ने ब्रेक प्वाइंट बचा दिया। जोकोविच के पास नौवें गेम में फेडरर की सर्विस पर दो मैच प्वाइंट थे और उन्होंने स्विस स्टार को वापसी का मौका नहीं दिया और फोरहैंड विनर से जीत दर्ज की।

भाषा



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.