राजद नेता रघुवंश ने कहा- ऋषि-महर्षि भी बीफ खाते थे

Last Updated: Sunday, October 11, 2015 - 00:27
राजद नेता रघुवंश ने कहा- ऋषि-महर्षि भी बीफ खाते थे

नई दिल्ली : लगता है बिहार चुनाव में विकास के मुद्दा अब किनारा हो गया है उसके स्थान पर बीफ बड़ा मुद्दा बन गया है। दादरी हत्याकांड के बाद महागठबंधन के नेता बीफ को लेकर लगातार बयान दे रहे हैं। राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने आज (शनिवार) बीफ को लेकर कहा कि पुराने जमाने में ऋषि-मुनि भी बीफ खाते थे।

राजद उम्मीदवार राम विचार राय द्वारा कल नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद मुजफ्फरपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए रघुवंश ने कहा, वेदों में लिखा है कि ऋषि-मुनि भी गौमांस खाया करते थे... इस पर अभी (जब चुनाव हो रहे हैं) चर्चा करने की आवश्यक्ता नहीं है। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश ने कहा कि यह वैचारिक बहस का विषय है और चुनाव के समय इस पर बहस की आवश्यक्ता नहीं है। इसपर बाद में भी बहस की जा सकती है। रघुवंश का यह बयान ऐसे समय में आया है जब गौमांस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बीच वाकयुद्ध छिड़ा हुआ है।

रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि बीफ मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है जबकि पुराने जमाने में ऋषि-महर्षि भी बीफ खाते थे। उन्होंने अपनी बात को साबित करने के लिए वेद पुराणों का भी हवाला दिया। हालांकि उन्होंने साथ ही कहा कि यह एक बहस का मुद्दा है, चुनाव प्रचार में सड़क, पानी, बिजली और महिला आरक्षण के मुद्दे पर बात होनी चाहिए। इससे पहले लालू ने कहा था कि हिंदू भी तो बीफ खाते हैं।

रघुवंश के इस बयान पर भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पलटवार में कहा कि आरजेडी का पूरा कुनबा पगला गया है। उन्होंने कहा कि हिंदुओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, नीतीश और लालू जानबूझकर हिंदू को गाली दे रहे हैं। पहले लालू फिर रघुवंश ने हिंदुओं को गौमांस खाने की बात कही। इस मामले पर नीतीश की चुप्पी से साबित होता है कि हिंदू को जबरन गौमांस खिलाया जाएगा। संतों ने भी रघुवंश के बयान का विरोध किया।

गत बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री ने बिहार में मुंगेर, बेगूसराय और समस्तीपुर में आयोजित रैलियों के दौरान लालू प्रसाद की उस सफाई पर कि उन्होंने शैतान के प्रभाव में यह गौमांस वाला बयान दिया था, उनपर यदुवंशियों का अपमान करने का आरोप लगाया था। प्रधानमंत्री ने कहा था, मुझे हैरानी है कि शैतान को प्रवेश करने के लिए उनका (लालू) ही शरीर मिला? मैं जानना चाहता हूं कि शैतान को उनका (लालू का) पता कैसे मिला? शैतान को पूरे बिहार, भारत और पूरी दुनिया में उन्हें छोड़कर किसी और का शरीर नहीं मिला। और उन्होंने भी शैतान का ऐसे स्वागत किया जैसे कोई अपने रिश्तेदारों का करता है। प्रधानमंत्री की उक्त टिप्पणी पर लालू ने कल कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था 'अगर मैं 'शैतान' हूं तो क्या वे 'ब्रह्म पिशाच' हैं।

उल्लेखनीय है कि कल राजद ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ निर्वाचन आयोग में शिकायत कर चुनाव आयोग से बिहार में प्रधानमंत्री की और रैलियों के आयोजन की अनुमति नहीं दिए जाने का आग्रह किया था। इस बीच रघुवंश के बयान पर केंद्रीय राज्य मंत्री गिरीराज सिंह ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पहले लालू फिर रघुवंश ने हिंदुओं के गोमांस खाने की बात कही। उस पर नीतीश की चुप्पी से सिद्ध होता है कि वे हिंदुओं को जबरन गोमांस खिलाएंगे।

 

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.