जल्दी ही नीतीश के सुप्रीम कोर्ट बन जाएंगे लालू: वैंकेया नायडू

Last Updated: Thursday, September 24, 2015 - 17:31
जल्दी ही नीतीश के सुप्रीम कोर्ट बन जाएंगे लालू: वैंकेया नायडू

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को भाजपा का ‘उच्चतम न्यायालय’ बताने वाले नीतीश कुमार पर वापस निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री एम वैंकेया नायडू ने आज कहा कि मोदी सरकार किसी के ‘दिशानिर्देशन या निर्देश’ में नहीं चल रही। नायडू ने दावा किया कि जल्दी ही जदयू के नेता लालू प्रसाद के निर्देशों का पालन करते हुए देखे जाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘जल्दी ही आप लालूजी को उनके (कुमार के) 'उच्चतम न्यायालय' के रूप में देखेंगे। सरकार बनने से पहले ही लालू घोषणा कर चुके हैं कि उनके बच्चे मंत्री बनेंगे। मंत्रिमंडल का गठन मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है।’ एक सम्मेलन से इतर नायडू ने कहा, ‘जहां तक भारत सरकार का सवाल है, उसने यह स्पष्ट कर दिया है कि सरकार भाजपा और राजग के एजेंडे पर चलती है। जो भी सुझाव आते हैं, यदि वे अच्छे होते हैं तो हम तर्कसंगत सुझावों को स्वीकार कर लेते हैं। हम किसी के दिशानिर्देशन, शासन या निर्देश के आधार पर नहीं चल रहे।’ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कल कहा था कि भाजपा ‘आरक्षण विरोधी’ है और उसे आरएसएस की लाइन पर ही चलना पड़ता है, जो कि ‘उसके लिए उच्चतम न्यायालय के समान है।'

इन आरोपों को खारिज करते हुए नायडू ने कहा, ‘जहां तक आरएसएस द्वारा व्यक्त किए गए कुछ विचारों की बात है, यदि आपको ये पसंद आते हैं, तो इन्हें स्वीकार करें। यदि आपको ये पसंद नहीं आते तो इन्हें स्वीकार न करें।’

आरएसएस का बचाव करते हुए नायडू ने कहा, ‘उसे इन लोगों के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है। आरएसएस का अर्थ है ‘रेडी फॉर सेल्फलैस सर्विस’ (निस्वार्थ सेवा के लिए तैयार)। आप किसी से उसके विचारों के लिए सहमत या असहमत हो सकते हैं। लेकिन यह एक महान देशभक्त संगठन है, जो देश के युवाओं में चरित्र, क्षमता और आचार का सृजन कर रहा है। किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए।’

भाषा



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.