यूपी के अमन-चैन को लगी नजर, सांप्रदायिक हिंसा के मामलों में टॉप पर राज्य

Last Updated: Tuesday, July 7, 2015 - 00:41
यूपी के अमन-चैन को लगी नजर, सांप्रदायिक हिंसा के मामलों में टॉप पर राज्य
Representational images

लखनऊः उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर बयान देते हुए प्रमुख सचिव देवाशीष पांडा ने जरूरी निर्देश दिये जाने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अमन-चैन बनाये रखने के लिये त्यौहारों के मद्देनजर खास सतर्कता बरती जा रही है।

उन्होंने कहा कि एजेंसियों से कई तरह के इनपुट मिले हैं और इस पर हम अलर्ट हैं। साथ ही कहा कि हाल में कुछ छोटी घटनाओं को बढ़ा-चढ़ा कर पेश करने की कोशिश हुई, लेकिन हमने तत्काल नियंत्रण कर लिया।

बीते कुछ समय से प्रदेश में शांति व्यवस्था को जैसे नजर-सी लग गई है। बीते महीनों पर नजर डालें तो घटनाओं की लंबी फेहरिस्त सामने आती है। गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों में प्रदेश में कई ऐसी घटनाएं हुईं जिन्होंने कानून और शांति व्यवस्था को सवालों के घेरे में कर दिया।

उल्लेखनीय है कि मुरादाबाद में सोशल साइट पर एक फोटो को लेकर बवाल हुआ था। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद अब हालात काबू में हैं। वहीं महोबा में एक बछड़े का शव मिलने के बाद दो समुदायों के बीच तनाव पैदा हो गया था। यहां आगजनी के बाद भारी संख्या में पुलिस को तैनात किया गया। 

इसी तरह सहारनपुर के गंगोह थाना क्षेत्र में दो पक्षों में खूनी संघर्ष में छह लोग घायल हो गए। यहां पर अब हालात काबू में हैं। फर्रुखाबाद के कायमगंज में दो गुटों में गोली चलने के बाद तनाव बढ़ गया। इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हो गई और एक घायल हो गया। वहीं कन्नौज में दो गुटों में पथराव और फायरिंग की घटना में एक शख्स की मौत हो गई जबकि पुलिसकर्मियों सहित कई लोग घायल हो गए।

आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं। महज सात महीने के भीतर ही यूपी में सांप्रदायिक हिंसा की तकरीबन 65 घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इनमें 15 लोगों को जान गंवानी पड़ी है। इस साल अप्रैल से जून के बीच उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा की 32 घटनाएं हुईं और सांप्रदायिक हिंसा के मामलों में राज्यों की सूची में यूपी सबसे ऊपर है।

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.