धर्मांतरणः 'धोखे से बदला धर्म', 25 को अलीगढ़ में 'घर वापसी' का आयोजन करेंगे VHP, RSS, बजरंग दल

By Pritesh Gupta | Last Updated: Tuesday, January 6, 2015 - 19:06
धर्मांतरणः 'धोखे से बदला धर्म', 25 को अलीगढ़ में 'घर वापसी' का आयोजन करेंगे VHP, RSS, बजरंग दल

आगराः  आगरा में धर्म परिवर्तन के मामले में सदर थाने में केस दर्ज किया गया है। धोखाधड़ी और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं इस मामले में अब कई नए मोड़ सामने आ रहे हैं।

धर्म परिवर्तन के मामले में एक और नया विवाद सामने आ रहा है। बजरंग दल की अगुवाई में यहां की स्लम बस्ती में रहने वाले 57 मुस्लिम परिवारों के करीब 250 लोगों का धर्मांतरण होने की बात सामने आई थी। लेकिन इनके परिवार वालों का कहना है कि बहला-फुसलाकर राशन कार्ड बनाने के नाम पर धोखे से हिंदू धर्म में परिवर्तन करवाया गया। वहीं इस मामले में बजरंग दल के नेता जबरन धर्म परिवर्तन की बात को गलत बता रहे हैं। सोमवार को देवरी रोड इलाके में मूलरूप से बिहार और कोलकाता के रहने वाले गरीब तबके के लोगों के धर्मांतरण कार्यक्रम को बजरंग दल ने 'घर वापसी' का नाम दिया। 

सुनियोजित तरीके से किए गए इस कार्यक्रम में बाकायदा फोटो सेशन, हवन और पूजा-पाठ भी हुआ। लेकिन 24 घंटे के भीतर पूरी कहानी बदल गई। जिन परिवारों का धर्मांतरण हुआ उनका कहना था कि उन्हें पता ही नहीं है कि उनका धर्म बदलने के लिए यह कार्यक्रम रखा गया है।

आगरा में हुए इस मामले के बाद 25 दिसंबर को आरएसएस, वीएचपी और बजरंग दल मिलकर अलीगढ़ में 25 दिसंबर को घर वापसी कार्यक्रम का आयोजन करने जा रहे हैं। यहां के माहेश्वरी इंटर कॉलेज में इस कार्यक्रम का आयोजन करने की योजना है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कार्यक्रम में अलीगढ़, बुलंदशहर और मथुरा के करीब 4 हजार ईसाई और मुस्लिम परिवारों को वापस हिंदू धर्म में लाने की योजना है।

वहीं इस मामले में सूबे की समाजवादी पार्टी की सरकार मामले की जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कह रही है। धर्मांतरण के मामले पर बीजेपी सांसद महंत योगी आदित्यनाथ का कहना है कि धर्मांतरण का मामला झूठा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो स्वेच्छा से घर वापसी करना चाहते हैं, उनका हम स्वागत करते हैं। गौरतलब है कि 25 दिसंबर को आदित्यनाथ अलीगढ़ जाएंगे, जहां वे जनसमूह को संबोधित करेंगे।

आगरा धर्मांतरण मामले पर बवाल के बीच यूपी के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने कहा है कि इस मामले की अभी हमें पूरी जानकारी नहीं है। जानकारी मिलने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी। जबकि एसपी नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि मामले की एफआईआर दर्ज है और यदि जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कराया गया है तो कड़ी कार्रवाई होगी। वहीं, यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री आजम खान ने कहा कि, बीजेपी और आरएसएस के पास कोई मुद्दा नहीं रहा है।

 

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

114076112497191514508


comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.